छत्तीसगढ़

Chhattisgarh: विवादित अधिकारी को राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका के प्रभार का विरोध, विधायक ने सोनिया गांधी को लिखा 5 पन्नों का पत्र

रायपुर। (Chhattisgarh) छत्तीसगढ़ पाठ्यपुस्तक निगम में भ्रष्टाचार को लेकर दो तीन बार सीयासी जग छीड़ चुकी है। लेकिन इस भ्रष्टाचार का सूत्रधार कौन है ये स्पष्ट नहीं हो पाया है।

इसी कड़ी में धरसीवा विधायक अनीता शर्मा ने सोनिया गांधाी को 5 पन्नों में एक पत्र प्रेषित किया है। यह महज खत नहीं है बल्कि भ्रष्टाचार का एक ऐसा पुलिंदा है जिसकी सच्चाई से प्रदेश की जनता और आला नेता भी महरुम हैं।

(Chhattisgarh) कुछ लोगों को इसकी सच्चाई का पता जरूर है लेकिन सियासी हुक्मदारों के ख़ौफ़ की वजह से उनके जुबान पर ताला लगा हुआ है जिसकी वजह से मामला जो 100 करोड से भी ज्यादा का है खुलकर सही तरीके से सामने नहीं आ पाया है।

(Chhattisgarh) विधायक अनीता शर्मा ने अपने 5 पन्नों के खत में बेहद स्पष्ट रूप से सोनिया गांधी के समक्ष खुलासा किया है कि छत्तीसगढ़ पाठ्यपुस्तक निगम में करोड़ों के भ्रष्टाचार का यदि कोई सूत्रधार है तो वह तत्कालीन महाप्रबंधक डॉ अशोक चतुर्वेदी हैं।

विधायक ने खत में लिखा है कि साल 2015 से 2019 के बीच कैसे अपने पद का दुरुपयोग करते हुए तत्कालीन महाप्रबंधक डॉक्टर चतुर्वेदी ने कागज खरीदी से लेकर विभिन्न तरीकों का इस्तेमाल करते हुए करोड़ों रुपए का गबन कर दिया।

विधायक अनीता शर्मा ने इस पूरे मामले को लेकर पूर्व विधायक देवजी भाई पटेल पर भी डॉक्टर चतुर्वेदी को संरक्षण दिए जाने का आरोप लगाया है। उन्होंने डॉक्टर चतुर्वेदी के नियुक्ति को लेकर भी सवाल उठाया है जिसमें उन्होंने तर्क दिया है कि डॉक्टर चतुर्वेदी द्वितीय श्रेणी के अधिकारी थे जबकि महाप्रबंधक जैसे पद के लिए प्रथम श्रेणी के अधिकारी का होना अनिवार्य है।

विधायक अनीता शर्मा ने सोनिया गांधी को लिखे अपने पत्र में इस बात का उल्लेख किया है कि तत्कालीन महाप्रबंधक अशोक चतुर्वेदी ने अपनी प्रतिनियुक्ति के दौरान पाठ्य पुस्तक निगम मैं जिस तरह से अनियमितताओं की धारा भाई है उसका सिरे से जांच कराया जाना बेहद जरूरी है।

“पूर्ववर्ती सरकार में पाठ्यपुस्तक निगम में जो अनियमितताएं हुई है उन सब पर सिलसिलेवार कार्यवाही की जा रही है कुछ मामला माननीय उच्च न्यायालय में विचाराधीन है बावजूद अन्य अनियमितता पाए जाने पर अनेक फर्मो को ब्लैक लिस्ट कर अग्रिम कार्यवाही जारी है विधायक की शिकायत राजनैतिक रूप से की गई है वो विषय अलग है”।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button