सरगुजा-अंबिकापुर

Ambikapur: तंबाकू मुक्त जिला बनाने के लिए स्वास्थ्य विभाग चला रहा अभियान, तो इधर थोक विक्रेताओं ने शुरू की कालाबाजारी, एसडीएम ने कही ये बात

शिव शंकर साहनी@सरगुजा। (Ambikapur) जिले में इन दिनों स्वास्थ्य विभाग ने तंबाकू मुक्त जिला बनाने के लिए युद्ध स्तर पर अभियान चला रहा है. एक अप्रैल से कोटपा अधिनियम के तहत कार्यवाही भी शुरू हो चुकी है.कोटपा नियम का उल्लंघन करने एवं सार्वजनिक स्थलों पर तंबाकू उत्पादकों का सेवन करने पर चालानी कार्रवाई की जाएगी.

(Ambikapur) स्वास्थ्य विभाग के द्वारा की जा रही है. स्वास्थ्य विभाग की इस कार्रवाई से तंबाकू के थोक एवं फुटकर विक्रेताओं में हड़कंप मचा हुआ है . (Ambikapur) तो वही कोटपा के कड़े नियम का पालन करना जिले में अनिवार्य हो गया है.

इधर तंबाकू के थोक एवं फुटकर विक्रेताओं में रोजी-रोटी को लेकर आक्रोश भी देखने को मिल रहा है.जिसके विरोध में थोक एवं फुटकर विक्रेताओं ने दुकान बंद कर व्यापारी संघ की बैठक बुलाई गई.लेकिन इन सबके बीच इस अभियान से जुड़ी एक और कालाबाजारी की खबर निकल कर सामने आई है.

थोक विक्रेताओं ने शुरू की कालाबाजारी

स्वास्थ्य विभाग के सख़्त रवैये के बाद तंबाकू उत्पादकों के थोक विक्रेताओं ने कालाबाजारी शुरू कर दी है.अचानक से तंबाकू उत्पादकों के मूल्यों में वृद्धि हो गई है या यूं कहें कि तम्बाकू मुक्त अभियान के आड़ में निर्धारित मूल्य से अधिक दामो पर तंबाकू उत्पादों को बेच कर थोक विक्रेता कालाबाजारी कर मोटी रकम कमाने में जुटे हुए.

एसडीएम ने कही ये बात

जाहिर सी बात है जिन भी उत्पादकों की आपूर्ति बाजार में अचानक से कम हो जायेगी. उसकी कालाबाजारी भी शुरू होने लगेगी .इसी का फायदा अब तम्बाकू उत्पादकों के थोक विक्रेताओं ने उठाना शुरू कर दिया है.वही अंबिकापुर एसडीएम प्रदीप साहू ने कहा कि अगर निर्धारित मूल्य से अधिक दामों पर तंबाकू की बिक्री हो रही है तो यह गैरकानूनी है. इस संबंध में जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button