देश - विदेश

Corona vaccine पर WHO की चेतावनी, दुनिया में मचा तहलका, दहशत में लोग

नई दिल्ली।  (Corona vaccine)कोरोना वायरस महामारी ने पूरी दुनिया को अपनी जद में ले लिया है।

हर रोज कोरोना के भयावह आंकड़े सामने आ रहे हैं.

कोरोना वायरस की अब तक कोई बैक्सीन नहीं मिल सकी है.

लेकिन पूरी दुनिया इसके बैक्सीन बनाने में जुटी है.

कई देशों में बैक्सीन का अंतिम ट्रायल तक पहुंच चुका है.

भारत भी देशी बैक्सीन COVaxin का ट्रायल एम्स में शुरू हो चुका है.

(Corona vaccine)जिसे हैदराबाद की बायोटेक फॉर्मा कंपनी ने तैयार किया है.

इसी बीच WHO के डायरेक्टर टेड्रोस एडनॉम गेब्रियेसस ने दुनिया को एक बार फिर आगाह किया है.

वर्चुअल ब्रीफिंग को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि कि हो सकता है कि कोरोना वायरस की रामबाण दवा शायद कभी ना मिले.

WHO के डायरेक्टर टेड्रोस एडनॉम गेब्रियेसस एक कर रहे थे.

अभी इसका रामबाण इलाज नहीं

गेब्रियेसस ने कहा ‘कई वैक्सीन अभी अपने तीसरे चरण के ट्रायल में हैं और उम्मीद की जा रही है कि

(Corona vaccine)जल्द ही इसकी प्रभावी वैक्सीन मिल जाए जो लोगों को संक्रमण से बचा सके.

हालांकि फिलहाल अभी इसका कोई रामबाण इलाज नहीं है और हो सकता है कि ये कभी ना मिले.’

मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग जैसे उपायों को जारी रखने की दी सलाह

दुनिया भर में जारी वैक्सीन की खोज पर गेब्रियेसस ने कहा, ‘ऐसी आशंकाएं जताई जा रहीं हैं कि हो

सकता है कि हमें कोई कारगर वैक्सीन ना मिले या फिर ये बस कुछ महीने के लिए ही काम करे.

पर जब तक हम क्लिनिकल ट्रायल पूरा नहीं कर लेते, हमें इसके बारे में कुछ नहीं पता चल सकता.’

WHO प्रमुख ने लोगों से मास्क पहनने, सोशल डिस्टेंसिंग रखने, हाथ धोने और टेस्ट कराने जैसे उपायों को जारी रखने का आग्रह किया.

मास्क को दुनियाभर में एकजुटता का प्रतीक बनाना चाहिए

उन्होंने कहा, ‘लोगों को स्पष्ट संदेश है कि आपको कोरोना वायरस के खिलाफ सारे उपाय करने होंगे.

साथ ही मास्क को दुनिया भर में एकजुटता का प्रतीक बना देना चाहिए.’

‘रास्ता लंबा है और कोशिशें लगातार जारी

WHO इमरजेंसी के प्रमुख माइक रेयान का कहना है कि ब्राजील और भारत जैसे संक्रमण के ज्यादा

मामले वाले देशों को कोरोना के खिलाफ एक लंबी लड़ाई जारी रखने की जरूरत है.

उन्होंने कहा, ‘रास्ता लंबा है और कोशिशें लगातार जारी रखने की जरूरत है.’

माइक रेयान ने कहा, ‘कुछ देशों को वास्तव में अब एक कदम आगे बढ़ना है और इस पर ध्यान देना है

कि वो अपनी राष्ट्रीय सीमाओं के भीतर महामारी से कैसे निपट रहे हैं.’

इससे पहले भी WHO कोरोना वायरस पर लोगों को सचेत करते हुए कह चुका है कि कोरोना वायरस

एक मौसमी बीमारी है जो मौसम बदलने के साथ कम हो जाएगी.

एक बड़ी लहर

विश्व स्वास्थ्य संगठन की प्रवक्ता मार्गरेट हैरिस ने एक वर्चुअल ब्रीफिंग में कहा था कि कोरोना वायरस महामारी एक बड़ी लहर है.

Corona से बिगड़ी भारत की हालत, नए आंकड़ों ने बढ़ाई चिंता, इतने मरीजों की मौत

हैरिस ने कहा, ‘लोग अभी भी इसे मौसमी बीमारी की तरह देख रहे हैं.

हम सभी को ये समझने की जरूरत है कि ये एक नया वायरस है,

जो अलग तरह से व्यवहार कर रहा है और ये वायरस हर मौसम में रहने वाला है.’

ज्यादा सतर्क और सुरक्षा के नियमों का पालन करने की जरूरत

कोरोना के बढ़ते मामलों की तरफ इशारा करते हुए हैरिस ने कहा कि हमें ज्यादा सतर्क और सुरक्षा के नियमों का पालन करने की जरूरत है.

उन्होंने लोगों को एक साथ इकट्ठा ना होने की भी चेतावनी दी.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button