कांकेर (उत्तर बस्तर)

Kanker: आश्वासन पर आश्वासन! मगर टूटी पुलिया का नहीं निकल सका हल, अब जान जोखिम में डालकर पुल पार करने को मजबूर ग्रामीण, देखिए तस्वीरें

प्रसेनजीत साहा@कांकेर।  (Kanker) जिले के ग्राम पंचायत शंकरनगर के आश्रित गांव बोकुलटोला से मुख्य मार्ग जोड़ने वाली सड़क पर  बना पुलिया पिछले साल बरसात में टूट गया था। जिसे पंचायत और जनप्रतिनिधि आज तक नहीं बना पाए हैं। (Kanker) अब ग्रामीण मजबूरन जान जोखिम में डालकर इस टूटे हुए पुलिया को पार करने को मजबूर है।

(Kanker) जनप्रतिनिधियों द्वारा बच्चों के जान के साथ खिलवाड़ कर रहे। जिससे कभी किसी बड़े हादसे की आशंका बनी रहती है। चुनाव के समय जनप्रतिनिधियों के वादें, लेकिन खत्म होने के बाद सारे वादे ठंडे बस्ते में चले जाते हैं। जिसका ताजा उदाहरण यह पुलिया है।

Chhattisgarh: आखिर अपने ही पार्टी सांसद पर क्यों भड़के रायपुर सांसद, पढ़िए

ग्रामीण पुलिया की मांग करते हुए थक गए। ग्रामीण की मांग सुनने के लिए कोई नहीं है। कई बार ग्रामीणों ने पंचायत से शिकायत की. पंचायत के ना सुनने के बाद पुलिया के मरम्मत की शिकायत एसडीएम से भी की गई। मगर पुलिया का हाल जस का तस बना है। जनप्रतिनिधि दूर दूर तक दिखाई नही दे रहे हैं। ग्रामीणों को पुलिया के जगह सिर्फ आश्वासन ही मिलता है।

Bilaspur: डॉ. ऋचा जोगी ने मुंगेली जिला छानबीन समिति को भेजा जवाब, जानिए

Kanker
Kanker

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button