विशेष

Pakistan: 21 महीने बाद पाकिस्तान को याद आया आर्टिकल 370 भारत का आंतरिक मामला…विदेश मंत्री ने क्या कहा…पढ़िए

इस्लामाबाद। पाकिस्तान (Pakistan) के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी (Foreign Minister Shah Mehmood Qureshi) ने आर्टिकल 370 को भारत का आंतरिक मामला माना है. आर्टिकल 370 हटने के 21 महीने बाद महमूद कुरैशी ने सार्वजनिक तौर पर इसे भारत का आंतरिक मसला बताया है. महमूद कुरैशी अभी तक पाकिस्तान आर्टिकल 370 (Article 370) हटाए जाने का विरोध करता रहा था, पाकिस्तान के एक न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू मेम

उन्होंने कहा कि हम 370 को ज्यादा अहमियत नहीं देते. हमें 35A से परेशानी है. उन्होंने कहा, “हमारी परेशानी तो 35A को लेकर है, क्योंकि इससे कश्मीर के भूगोल और आबादी का संतुलन बदलने की कोशिश की जा रही है.”

कुरैशी ने कहा, “दोनों देशों के बीच बातचीत के अलावा कोई और रास्ता नहीं है. दो परमाणु शक्ति संपन्न देश हैं. इनके अपने मसले हैं. इनको आज, कल या परसों हल करना होगा. उनको हल करने का तरीका क्या है? जंग तो ऑप्शन है नहीं. जंग तो खुदकुशी हो सकती है. और अगर जंग ऑप्शन नहीं है, तो बातचीत ऑप्शन है. अगर बातचीत ऑप्शन है तो बैठकर मुद्दों को हल किया जा सकता है.”

केंद्र सरकार (central government) ने 5 अगस्त 2019 को जम्मू-कश्मीर को खास दर्जा देने वाले आर्टिकल 370 को हटा दिया था. इसके साथ ही जम्मू-कश्मीर को जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में भी बांट दिया था. दोनों को ही केंद्र शासित प्रदेश बना दिया गया. हालांकि, जम्मू-कश्मीर को विधानसभा वाला केंद्र शासित प्रदेश बनाया गया है, जबकि लद्दाख में विधानसभा नहीं है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button