विशेष

National: रिपोर्ट में दावा, भारतीय है सबसे ज्यादा रिश्वतखोर, जानिए सर्वेक्षण सूची में शामिल और देश

नई दिल्ली। (National) रिपोर्ट में दावा किया गया है कि 39% भारतीयों को सार्वजनिक सेवाओं का लाभ उठाने के लिए रिश्वत लेने के लिए मजबूर होना पड़ता है। इससे यह पता चल रहा है कि मोदी सरकार के तमाम कोशिशों को बावजूद रिश्वतखोरी कम नहीं हो रही है।

Jammu-Kashmir: सेना के 2 जवान शहीद, आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर की गोलीबारी, भीड़ फायदा उठाकर भागने में कामयाब, सेना ने इलाके में चलाया सर्च ऑपरेशन

(National) सर्वेक्षण के अनुसार,अकेले भारत में 89 प्रतिशत उत्तरदाताओं ने कहा कि सरकारी भ्रष्टाचार एक बड़ी समस्या है।(National) 17 एशियाई देशों में किए गए इस सर्वेक्षण में पता चला है कि हर पांच में से एक व्यक्ति ने सार्वजनिक सेवाओं का उपयोग करने के लिए पिछले 12 महीनों में अधिकारियों को रिश्वत देने का दावा किया है।

Chhattisgarh: धान खरीदी की तैयारियों की उच्च स्तरीय समीक्षा, बैठक में इन प्रमुख बिंदुओं पर चर्चा

इस सर्वेक्षण के अनुसार, देशों की सूची में भारत सबसे ऊपर है – 37 प्रतिशत के साथ कंबोडिया, 30 प्रतिशत पर इंडोनेशिया, 10 प्रतिशत के साथ दक्षिण कोरिया और 2 प्रतिशत पर जापान और मालदीव – जहां रिश्वत बड़े पैमाने पर लिए जाते है।

सर्वेक्षण में छह प्रमुख सार्वजनिक सेवाओं पुलिस, अदालतें, सार्वजनिक अस्पताल जैसे को को शामिल किया गया था। सर्वेक्षण के अनुसार, पुलिस के संपर्क में आने वाले 42 प्रतिशत लोगों ने रिश्वत दी। व्यक्तिगत कनेक्शन का उपयोग भी पुलिस (39%), आईडी दस्तावेजों की खरीद (42%) और अदालतों (38%) के संबंध में बड़े पैमाने पर किया गया था।

मोदी सरकार द्वारा किए गए तमाम कोशिशों के बावजूद भारत में भ्रष्टाचार खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है। हाल ही में एक सर्वेक्षण से पता चला है कि

Related Articles

30 Comments

  1. 458983 133753As I internet website possessor I believe the content matter here is rattling magnificent , appreciate it for your hard work. You need to keep it up forever! Best of luck. 92430

  2. 600156 974725Hi there! Someone in my Myspace group shared this site with us so I came to give it a look. Im definitely loving the information. Im bookmarking and will probably be tweeting this to my followers! Outstanding blog and fantastic style and style. 653645

  3. 210134 582066Delighted for you to discovered this website write-up, My group is shopping much more often than not regarding this. This can be at this moment definitely what I are already seeking and I own book-marked this specific internet site online far too, Ill often be maintain returning soon enough to look at on your distinctive blog post. 252832

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button