छत्तीसगढ़

Gariyaband: वर्षों की जाम की समस्या से जूझ रहे देवभोग वासियों को मिलेगी राहत, तहसीलदार के नोटिस के बाद मचा हड़कंप, ठेले हटने का सिलसिला शुरू

रवि तिवारी@देवभोग। (Gariyaband) वर्षों से जाम की समस्या से जूझ रहे देवभोग ब्लॉक के लोगों को अब जाम से राहत मिलने वाली है। वही जाम से राहत दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा किया है देवभोग के प्रभारी युवा तहसीलदार समीर शर्मा ने। शर्मा की प्रशासनिक कार्यकुशलता के चलते अब अंचल के लोगों को जाम की समस्या से जूझना नही पड़ेगा। (Gariyaband) तहसीलदार की इस सूझ बूझ भरी कार्रवाई से आमजनों को यातायात की समस्या से भी जूझना नही पड़ेगा।

(Gariyaband) गौरतलब है कि देवभोग में सड़क किनारे लगे ठेलों और खोमचे के चलते आये दिन जाम की स्थिति निर्मित हो रही थी। ऐसे में पदभार ग्रहण करने के बाद समीर शर्मा को जब इसकी जानकारी लगी,तो उन्होंने तत्काल समस्या को दूर करने की दिशा में कदम बढ़ाना शुरू किया।

शर्मा ने पंचायत पदाधिकारियों के साथ चर्चा किया। इसके बाद हल निकाला गया कि एन एच सड़क से लगे ठेले अब पास के कोस्टामुड़ा तालाब के किनारे लगेंगे।

वही युवा तहसीलदार ने रणनीति बनाकर खुद तालाब के सामने घन्टो रहकर कमान सम्भालते हुए ठेलों को तालाब किनारे लगाने के लिए व्यवस्था बनाया। वही श्री शर्मा की कुशल प्रशाशनिक व्यवस्था और उनकी रणनीति के चलते आज देवभोग में वर्षों से सड़क किनारे लगे ठेले खोमचे हटने लगे है। वही तहसीलदार के द्वारा जारी किए गए नोटिस के बाद हड़कम्प की स्थिति निर्मित हो गयी थी,

जिसके बाद आज लोगों ने सुबह से ही ठेला और तम्बू लगाया हुआ अपना होटल उखाड़कर उसे तालाब किनारे ले जाने की तैयारी में करना शुरू कर दिया है। वही प्रभारी युवा तहसीलदार की इस कार्रवाई से आमजन भी खुस नज़र आ रहे है। लोगों का कहना है कि सड़क किनारे से ठेले और होटल हटने से  भिड़ कम होगी। वही आये दिन जो जाम की समस्या उत्पन्न हो रही थी वह भी दूर होगी।

मंगलवार बाज़ार में भी मिली है राहत

वही प्रशासन की रणनीति मंगलवार बाज़ार में भी काफी कारगर साबित हुई है। एक समय जब सड़क किनारे बाज़ार लगता था, तो आमजनों को पैदल चलने में परेशानी का सामना करना पड़ता था। वही प्रशासन ने मंगलवार बाज़ार में आ रही जाम की समस्या को देखते हुए निर्णय लिया कि बाजार अब एन एच सड़क के किनारे नही लगेगा। वही प्रशासन का ये कदम भी काफी कारगार साबित हुआ। आज बाज़ार के दिनों में भी दुपहिया की आवाजाही में आमजनों को परेशानी नही होती और ना ही उन्हें जाम की समस्या से जूझना पड़ता है।

चार महीने में ही मूल समस्या का कर दिया निराकरण

देवभोग तहसील में युवा प्रभारी तहसीलदार समीर शर्मा ने 26 नवंबर 2020 को प्रभार लिया था। आज उनके प्रभार लेकर मात्र चार महीने ही हुए है। वही चार महीने के अंदर ही उन्होंने देवभोग की सबसे बड़ी मूल समस्या जाम से आमजनों को राहत दिलवा दिया। यहां बताते चले कि सड़क किनारे लगे होटल,ठेलों के हटने से भिड़ भी बहुत ज्यादा कम हो जाएगी। वही सड़क के दोनों और पर्याप्त जगह मिलने से चार पहिया वाहन चालकों को भी परेशानी का सामना नही करना पड़ेगा।

मामले में प्रभारी तहसीलदार समीर शर्मा ने तरुण छत्तीसगढ़ से बातचीत में बताया कि उनकी पहली प्राथमिकता देवभोग की समस्याओं को दूर करना है।  शर्मा ने बताया कि जब उन्होंने देवभोग में पदभार ग्रहण किया तो उन्हें दिखा की यहां के ग्रामीणों को आये दिन जाम की समस्या से जूझना पड़ रहा है। वही जाम की समस्या को देखते हुए पंचायत पदाधिकारियों के साथ युवा तहसीलदार ने बैठक की।

बैठक में रणनीति तैयार कर कार्ययोजना बनाकर कार्य करना शुरू किया। शर्मा ने साफ कर दिया कि अतिक्रमण हटाना शासन की महत्वपूर्ण योजना है ऐसे में वे भी अतिक्रमण हटाने को लेकर अपनी कार्रवाई लगातार जारी रखेंगे।

Related Articles

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button