क्राईमकोरिया

Crime: 72 घंटे के भीतर दोहरे हत्याकांड का खुलासा, पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, चोरी की नियत से दिया था वारदात को अंजाम

 संजय गुप्ता@कोरिया। (Crime) शहर चिरमिरी में लगातार हुये दोहरे हत्याकाण्ड में कार्रवाई करते हुए 72 घण्टे के अन्दर खुलासा कर लिया गया।

(Crime) जिले चिरमिरी में हुए विगत दरम्यानी रात्री मोहन कालोनी चिरमिरी निवासी रतन बाई  को अज्ञात बदमाश द्वारा घर में सोते समय सिर में प्राण घातक चोट पहुचाकर हत्या किया गया था। हत्या का मामला दर्ज कर थाना प्रभारी ने विवेचना में लिया।  (Crime)  वही एक दिन पूर्व को यात्री प्रतिक्षालय पोड़ी में एक विक्षिप्त महिला मृत हालत में मिली। जिसके सिर में चोट होकर खून बहा हुआ था, प्रकरण में मर्ग कायम कर पीएम रिपोर्ट के आधार पर सिर पर आयी चोट से हत्या की जानकारी मिली है। जिसके बाद पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर आरोपी की तलाश में जुट गई।

लगातार 3 दिनों के भीतर हुई दो हत्या के गंभीरता को देखते हुये संयुक्त टीम गठित मामले के जांच में जुट गये। गठित टीम द्वारा दो दिनो के अथक प्रयास के बाद हत्या में शामिल व्यक्ति को ढुंढ निकालने में सफालता हासिल हुई।

टीम द्वारा सीसीटीवी फूटेज के आधार पर सदेही संतोष पनिका 44 नम्बर दफाई पोड़ी को पुलिस हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ किया गया। पूछताछ में आरोपी ने अपना जुर्म कबूल कर लिया।

 उसने पूछताछ में बताया कि दरम्यानी रात मोहन कालोनी में बेवा रतना बाई के घर चोरी करने की नियत से घुसा था। इसी बीच रतना बाई उठ गई चिल्लाने लगी। तब आरोपी द्वारा हाथ में लिये हुये लोहे की राड से रतना बाई के सिर में मार दिया। जिससे उसकी मृत्यु हो गयी, आरोपी द्वारा उसके कमरे के पेटी से एक जोड़ी चांदी का पायल, मोबाईल, एवं 70 रूपये चिल्हर चोरी करना कबुल किया।

वही दूसरी हत्या यात्री प्रतिक्षालय पोड़ी में विक्षिप्त महिला शीतल शर्मा की भी हत्या करना स्वीकार किया, इस विक्षिप्त महिला के पास भी घटना की रात्रि इसके पास चोरी की नियत से घुसना तथा विरोध करने व चिल्लाने पर आरोपी द्वारा पत्थर को उठाकर सिर में मारकर हत्या कर चोरी में दो रूपये का नोट मिलना कबुल किया। आरोपी संतोष पनिका आदतन चोर है।थाना चिरमिरी व पोड़ी पोलिस द्वारा आरोपी संतोष पनिका  को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमाण्ड में माननीय न्यायालय चिरमिरी पेश किया जा रहा है।

Related Articles

4 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button