विशेष

Chhath Pooja: 21 को उगते सूर्य को दिया जाएगा अर्घ्य, जानिए शुभ मुहुर्त और उसके नियम

नई दिल्ली। (Chhath Pooja) देश में धूमधाम से छठ महापर्व मनाया जा रहा है. आज छठ पर्व का तीसरा दिन है, और डूबते सूर्य को अर्घ्य दिया गया. छठ महापर्व बिहार, पूर्वी यूपी और झारखंड में धूमधाम से मनाया जाता है. 4 दिनों तक चलने वाले छठ महापर्व की शुरूआत नहाय-खान से शुरू होकर उगते सूर्य को अर्घ्य देने के साथ संपन्न होती है.

Rape: दुष्कर्म का आरोपी गिरफ्तार… नाबालिग को बहला फुसलाकर ले गया था युवक…बीरगांव से पकड़ाया…पढ़िए पूरी खबर

(Chhath Pooja)  मान्यता है कि कोई भी व्यक्ति अगर पूरे श्रद्धा भाव से व्रत कर के सूर्य देव की उपासना करता है और उन्हें अर्घ्य देता है तो उसकी सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं. (Chhath Pooja) चार दिनों तक चलने वाल छठ महापर्व 21 नवंबर को सुबह का अर्घ्य देने के साथ ही समाप्त हो जाएगा.

Corona: 30 नवंबर तक स्कूल बंद..सरकार का फैसला…150 बच्चे हुए थे संक्रमित…कोरोना ने बढ़ाई मुसीबत

सूर्योदय अर्घ्य का समय

कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि को छठ पूजा का अंतिम दिन मनाया जाता है. इस दिन सूर्योदय के समय सूर्य देव को अर्घ्य देने की परंपरा है. 21 नवंबर को सूर्योदय का अर्घ्य दिया जाएगा. उगते सूरज के अर्घ्य देने का शुभ मुहूर्त सुबह 06:49 बजे है. इसके बाद पारण कर इस व्रत को पूरा किया जाता है. सूर्य को जल चढ़ाने के लिए तांबे के लोटे का उपयोग करना चाहिए. गिरते जल की धारा में सूर्यदेव के दर्शन कराना चाहिए.

Arrest: इंजीनियर पूजा शर्मा के हत्यारे पुलिस हिरासत में….रंजिश नहीं बल्कि लूट के इरादे से मारे थे गोली.. 100 से अधिक मामले दर्ज…पुलिस जांच में जुटी

छठ पूजा या व्रत के लाभ क्या हैं?

ऐसी मान्यता है कि जिन लोगों को संतान न हो रही हो या संतान होकर बार बार समाप्त हो जाती हो ऐसे लोगों को इस व्रत से अदभुत लाभ होता है. अगर संतान पक्ष से कष्ट हो तो भी ये व्रत लाभदायक होता है. अगर कुष्ठ रोग या पाचन तंत्र की गंभीर समस्या हो तो भी इस व्रत को रखना शुभ होता है. जिन लोगों की कुंडली में सूर्य की स्थिति खराब हो अथवा राज्य पक्ष से समस्या हो ऐसे लोगों को भी इस व्रत को जरूर रखना चाहिए.

Related Articles

3 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button