बिलासपुर

Bilaspur: आईजी के आदेश पर स्थगन, हाईकोर्ट ने सुनाया फैसला, पुलिस महानिरीक्षक को 6 माह पश्चात पुनरावलोकन का नहीं है अधिकार

बिलासपुर। (Bilaspur) हाईकोर्ट ने कबीरधाम के चिल्फी थाने में पदस्थ तत्कालीन सब इंस्पेक्टर के विरुद्ध पुलिस महानिरीक्षक के आदेश पर स्थगन जारी किया है।  दरअसल वर्तमान में कांकेर थाने में पदस्थ सब इंस्पेक्टर सौरभ उपाध्याय 2017 में चिल्फी थाना कबीरधाम में पदस्थापना के दौरान शासकीय संपत्ति के रखरखाव में लापरवाही के आरोप में पुलिस अधीक्षक कबीरधाम ने सेवा पुस्तिका में निंदा की सजा दी थी।

Bilaspur: आईजी के आदेश पर स्थगन, हाईकोर्ट ने सुनाया फैसला, पुलिस महानिरीक्षक को 6 माह पश्चात पुनरावलोकन का नहीं है अधिकार

(Bilaspur) इस मामले के बाद पुलिस महानिरीक्षक दुर्ग ने 8 माह बाद इस मामले में विभागीय जांच कर सौरभ उपाध्याय के विरुद्ध सजा को बढ़ाने का आदेश दिया। इस आदेश से क्षुब्ध होकर सब इंस्पेक्टर सौरभ उपाध्याय ने अधिवक्ता अभिषेक पांडे और दीपिका सन्नत के माध्यम से हाईकोर्ट में याचिका लगाई। दोनों अधिवक्ताओं ने हाईकोर्ट की बैंच में अपने-अपने तर्क दिए।

Crime: अंतर्राज्यीय गिरोह का पर्दाफाश, शादी में चोरी की वारदात को देते थे अंजाम, गैंग का सरगना गिरफ्तार, ऐसे खुला पोल

(Bilaspur) अधिवक्ताओं ने सिविल सेवा नियम 1966 के प्रावधानों का जिक्र करते हुए जिरह की। जिरह में कहा गया कि सब इंस्पेक्टर के विरुद्ध 10 दिसंबर 2019 को पुलिस अधीक्षक द्वारा कार्यवाही की गई। इसके 8 महीने बाद आईजी ने आदेश दिया। इन सब तर्कों को ध्यान में रखते हुए हाईकोर्ट ने फैसला देते हुए पुलिस महानिरीक्षक द्वारा जारी पुनरावलोकन के आदेश पर स्थगन (स्टे) जारी किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button