क्राईम

Crime: अंतर्राज्यीय गिरोह का पर्दाफाश, शादी में चोरी की वारदात को देते थे अंजाम, गैंग का सरगना गिरफ्तार, ऐसे खुला पोल

रायपुर। (Crime) विवाह समारोह में चोरी करने वाले अंतर्राज्यीय गिरोह का सदस्य रितिक छायल गिरफ्तार हो गया है। गिरोह के सदस्य पूरे भारत में घुम-घुम कर विवाह समारोह में चोरी की घटनाआों को अंजाम देते थे। थाना मंदिर हसौद क्षेत्रांतर्गत विसलींग वुड सेरीखेडी में 9 दिसंबर को आयोजित एक शादी समारोह से सोने-चांदी से भरे बैग को पार किया था।

(Crime) गिरोह का सरगना किराये पर आदमी लाता था । इस गिरोह के सदस्य मुख्यतः मध्यप्रदेश के राजगढ़ के पचोर के निवासी थे।  (Crime) विवाह समारोह में मौका देखकर सोने चांदी के आभूषण का बैग/थैला, नगदी रकम एवं गिफ्ट ऑयटमों की चोरी करते है। आरोपी के कब्जे से चोरी की सोने के जेवरात जप्त किया गया है । घटना में शामिल गिरोह के 3 सदस्य अभी भी फरार है। जिनकी पतासाजी की जा रही है। आरोपी के विरूद्ध थाना मंदिर हसौद में अपराध क्रमांक 432/20 धारा 380 भादवि. का अपराध पंजीबद्ध किया गया है।

जानकारी के मुताबिक छोटापारा निवासी आयुष पोद्दार ने थाना मंदिर हसौद में रिपोर्ट दर्ज कराया। उसने अपनी शिकायत में बताया कि 8 दिसंबर को बड़े भाई मानसी पोद्दार की शादी होटल विसलींग वुड सेरीखेड़ी में हो रहा था। 9 दिसबंर को दोपहर 3 बजे के करीब मेंहदी की रस्म चल रही थी. दुल्हन की ज्वेलरी का सामान शादी के मण्डप एक काले रंग के एयर बैग में जिसमें एटी लिखा है रखा था। जिसमें दुल्हन के सोने-चांदी का जेवरात रखा था। जिसे अज्ञात चोर द्वारा चोरी कर लिया गया। जिस पर अज्ञात आरोपी के विरूद्ध थाना मंदिर हसौद में अपराध क्रमंाक 432/20 धारा 380 भादवि. का अपराध पंजीबद्ध किया गया।

एसएसपी ने दिए निर्देश

चोरी की घटना को एसएसपी ने गंभीरता से लेते हुए आरोपियों को जल्द से गिरफ्तारी के दिशा-निर्देश बाकी के अधिकारियों को दिए। इसके लिए एक विशेष टीम गठित की गई।

जिस पर वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन में एक विशेष टीम का गठन कर अज्ञात आरोपी की पतासाजी प्रारंभ किया गया। टीम द्वारा चोरी के घटना स्थल का निरीक्षण करते हुए अज्ञात आरोपी की पतासाजी प्रांरभ किया गया।

शादी समारोह में उपस्थित अन्य लोगों से की गई पूछताछ

घटना के संबंध में प्रार्थी सहित विवाह समारोह में उपस्थित अन्य लोगों से भी विस्तृत पूछताछ किया गया। घटनास्थल व उसके आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों में आरोपियों को खंगाला गया। इसी दौरान कैमरों के फुटेज के अवलोकन पश्चात् आरोपी के संबंध में महत्वपूर्ण साक्ष्य प्राप्त हुए।

इससे पहले भी पूर्व विवाह समारोह में इसी तरह के तरीके वारदात के आधार पर चोरी करने वाले आरोपियों को गिरफ्तार करने में पुलिस को सफलता मिली थी। जिसके आधार पर पुलिस ने जांच शुरू की।

राजगढ़ के लिए रवाना हुई थी टीम

एक आरोपी को चिन्हांकित करने में सफलता मिली। जिस पर टीम मध्यप्रदेश के जिला राजगढ़ पचोर हेतु रवाना की गई। टीम द्वारा जिला राजगढ़ पचोर पहुंचे। जहां आरोपियों के संबंध में जानकारी एकत्रित की गई। टीम द्वारा आरोपी के संबंध में जानकारी प्राप्त कर स्थानीय पुलिस की मदद लेकर उनकी गिरफ्तारी का प्रयास प्रारंभ किया गया। आरोपी के निवास क्षेत्र में रेड कार्यवाही करते आरोपी रितिक छायल को गिरफ्तार करने में सफलता मिली।

आरोपी द्वारा चोरी की उक्त घटना को अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर चोरी करने की बात को स्वीकार किया।

पूछताछ में आरोपी ने बताया

 आरोपी रितिक छायल ने पूछताछ में बताया कि वह घटना के कुछ दिन पूर्व अपने साथी ओम सिसोदिया, बाबू सिसोदिया एवं एक अन्य वाहन चालक के साथ चारपहिया वाहन में अपने गृह ग्राम कड़िया से रायपुर आये थे। शादी समारोह में शामिल हुये। फिर मौका देखकर सोने चांदी के जेवरात वाले बैग को चोरी कर फरार हो गये।

चोरी के जेवरात बरामद

आरोपी रितिक छायल की निशानदेही पर उसके कब्जे से चोरी की सोने के जेवरात पुलिस ने बरामद कर लिया। जिसकी कीमत 3,00,000 रूपये तक की बताई जा रही।  

ऐसे देते थे वारदात को अंजाम

इस गिरोह के सदस्य मूलतः मध्यप्रदेश जिले के राजगढ़ के पचोर के निवासी होते है तथा सांसी जाति के होते है। गिरोह के सदस्य विवाह समारोह में अच्छे कपड़े पहनकर शामिल होते है तथा घरवालों सहित आसपास के लोगों पर लगातार नजर रखते हैं। फिर मौका देखकर सोने, चांदी के जेवरात, नगदी रकम एवं गिफ्ट आॅयटमों को चोरी कर फरार हो जाते हैं। यह गिरोह देश भर में घुम – घुम कर विवाह समारोह में चोरी की घटनाओं को अंजाम देते है। 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button