Jannah Theme License is not validated, Go to the theme options page to validate the license, You need a single license for each domain name.
छत्तीसगढ़

भानुप्रतापपुर में हार के बाद भाजपा में अध्यक्ष, नेता प्रतिपक्ष, प्रभारी बदल जायेंगे-कांग्रेस

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि भानुप्रतापपुर में हार के बाद एक बार फिर से भाजपा का प्रदेश अध्यक्ष और नेता प्रतिपक्ष, प्रभारी बदल दिये जायेंगे। भाजपा का रिकार्ड रहा है जब-जब भाजपा चुनाव हारती है अपने अध्यक्ष को बदल देती है। 2018 के विधानसभा चुनाव के समय भाजपा के अध्यक्ष धरमलाल कौशिक थे, प्रभारी अनिल जैन जैसे ही भाजपा विधानसभा का चुनाव तीन चौथाई बहुमत से हारी कौशिक को हटा कर विक्रम उसेंडी को अध्यक्ष बना दिया गया, अनिल जैन को हटाकर पुरंदेश्वरी को प्रभारी बना दिया गया। विक्रम उसेंडी के नेतृत्व में भी भाजपा चित्रकोट और दंतेवाड़ा का चुनाव हार गयी तब भाजपा ने उसको भी हटा कर विष्णुदेव साय को अध्यक्ष बना दिया। विष्णुदेव साय के नेतृत्व में भाजपा मरवाही, खैरागढ़ उपचुनाव के साथ नगरीय निकाय में बुरी तरह पराजित हो गयी तब विष्णुदेव साय को हटाकर अरूण साव को अध्यक्ष बना दिया गया। अबकी बार प्रभारी के साथ नेता प्रतिपक्ष भी बदल दिया गया, धरमलाल कौशिक की जगह नारायण चंदेल नेता प्रतिपक्ष बनाये गये है तथा प्रभारी ओपी माथुर बनाये गये है। इनके नेतृत्व में भाजपा भानुप्रतापपुर चुनाव लड़ रही है जहां पर उसकी पराजय होना तय है।

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि भानुप्रतापपुर में कांग्रेस अपने सरकार के 4 साल के कामों तथा अपने संगठन की मजबूती के दम पर चुनाव जीत रही है। कांग्रेस सरकार द्वारा किसानों और आदिवासियों के हितों में किये गये कामों के कारण जनता को कांग्रेस के प्रति भरोसा और बढ़ा है। इसलिये कांग्रेस उपचुनाव जीतेगी। भाजपा के पास वहां कोई मुद्दा नहीं ऊपर से बलात्कारी ब्रम्हानंद को प्रत्याशी बनाया है। जैसे ही परिणाम आयेंगे उसके साथ ही दिसंबर के दूसरे सप्ताह में भाजपाईयों को नया प्रभारी, नया अध्यक्ष और नया नेता प्रतिपक्ष मिल जायेगा।

Related Articles

छत्तीसगढ़

भानुप्रतापपुर में हार के बाद भाजपा में अध्यक्ष, नेता प्रतिपक्ष, प्रभारी बदल जायेंगे-कांग्रेस

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि भानुप्रतापपुर में हार के बाद एक बार फिर से भाजपा का प्रदेश अध्यक्ष और नेता प्रतिपक्ष, प्रभारी बदल दिये जायेंगे। भाजपा का रिकार्ड रहा है जब-जब भाजपा चुनाव हारती है अपने अध्यक्ष को बदल देती है। 2018 के विधानसभा चुनाव के समय भाजपा के अध्यक्ष धरमलाल कौशिक थे, प्रभारी अनिल जैन जैसे ही भाजपा विधानसभा का चुनाव तीन चौथाई बहुमत से हारी कौशिक को हटा कर विक्रम उसेंडी को अध्यक्ष बना दिया गया, अनिल जैन को हटाकर पुरंदेश्वरी को प्रभारी बना दिया गया। विक्रम उसेंडी के नेतृत्व में भी भाजपा चित्रकोट और दंतेवाड़ा का चुनाव हार गयी तब भाजपा ने उसको भी हटा कर विष्णुदेव साय को अध्यक्ष बना दिया। विष्णुदेव साय के नेतृत्व में भाजपा मरवाही, खैरागढ़ उपचुनाव के साथ नगरीय निकाय में बुरी तरह पराजित हो गयी तब विष्णुदेव साय को हटाकर अरूण साव को अध्यक्ष बना दिया गया। अबकी बार प्रभारी के साथ नेता प्रतिपक्ष भी बदल दिया गया, धरमलाल कौशिक की जगह नारायण चंदेल नेता प्रतिपक्ष बनाये गये है तथा प्रभारी ओपी माथुर बनाये गये है। इनके नेतृत्व में भाजपा भानुप्रतापपुर चुनाव लड़ रही है जहां पर उसकी पराजय होना तय है।

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि भानुप्रतापपुर में कांग्रेस अपने सरकार के 4 साल के कामों तथा अपने संगठन की मजबूती के दम पर चुनाव जीत रही है। कांग्रेस सरकार द्वारा किसानों और आदिवासियों के हितों में किये गये कामों के कारण जनता को कांग्रेस के प्रति भरोसा और बढ़ा है। इसलिये कांग्रेस उपचुनाव जीतेगी। भाजपा के पास वहां कोई मुद्दा नहीं ऊपर से बलात्कारी ब्रम्हानंद को प्रत्याशी बनाया है। जैसे ही परिणाम आयेंगे उसके साथ ही दिसंबर के दूसरे सप्ताह में भाजपाईयों को नया प्रभारी, नया अध्यक्ष और नया नेता प्रतिपक्ष मिल जायेगा।

Related Articles

Back to top button