राजनीति

Congress: बृजमोहन अग्रवाल के बयान पर मोहन मरकाम ने कहा- क्या डॉ. रमन सिंह पनामा प्रकरण से स्वयं को पाक-साफ बताने राज्य शासन से जाँच की मांग करेंगे?

रायपुर। (Congress) पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के कवर्धा के पते पर विदेशी खाते खोले जाने पर वरिष्ठ भाजपा नेता पूर्व मंत्री बृजमोहन

अग्रवाल के बयान पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि अगर रमन सिंह ने अपने कवर्धा के पते पर

विदेशों में खाता खोले जाने की शिकायत नहीं की है तो स्पष्ट है कि मामला बहुत गंभीर है।

(Congress) रमन सिंह  को इस मामले की जांच कराये जाने की अपनी जिम्मेदारी निभानी थी।

अगर रमन सिंह जी पाक साफ होते तो जांच नहीं तो कम से कम मामले की शिकायत तो रमन सिंह ने की ही होती।

15 साल तक प्रदेश के मुख्यमंत्री और भाजपा के वर्तमान राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रहे

(Congress) जो इतने गंभीर विवाद पर भाजपा की राज्य सरकार और भाजपा की केन्द्र सरकार द्वारा जांच तक नहीं करवाने से सब कुछ स्पष्ट है।

Congress ने कहा- गोधन न्याय योजना को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने दृढ़ इच्छाशक्ति से किया लागू

रमन सिंह अभी भी शिकायत नहीं करते हैं,

तो कांग्रेस सरकार से शिकायत करेगी और इस अगस्ता दलाली के मामले पर कार्यवाही की मांग करेगी।

अब तो भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने भी पूछ लिया है कि सरकार पनामा पेपर्स मामले में कार्यवाही क्यों नहीं कर रहे है।

अगर भाजपा चाहे तो इस मामले की जांच के लिये राज्य सरकार को कह सकती है।

क्या अगस्ता मामले की दलाली का पैसा ही इस विदेशी खातें में जमा
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि हम यह भी जानना चाहते है कि क्या अगस्ता मामले की दलाली का

पैसा ही इस विदेशी खातें में जमा किया गया था?

Mumbai rain: पानी-पानी हुई मायानगरी, समंदर बना शहर, मौसम विभाग का रेड अलर्ट

पनामा पेपर्स से उजागर हुये अभिशेक सिंह के विदेशी निवेष के मामले की जांच होनी चाहिये।

आई.सी.आई.जे. की वेबसाइट में ‘‘म.नं. 05, विंध्यवासिनी वार्ड, रायपुर-नांदगांव मार्ग कवर्धा, जिला कबीरधाम’’ दिया गया है।

अभिषेक सिंह के पिता रमन सिंह का पता विधानसभा निर्वाचन के समय उनके शपथ पत्र में ‘‘म.नं. 05, रायपुर-

नांदगांव मार्ग कवर्धा, जिला कबीरधाम’’ दिया गया है।

अभिषेक सिंह के द्वारा अपना नामांकन फार्म में पता यही भरा गया है।

यही पता आई.सी.आई.जे. द्वारा उजागर लिंक्स में भी है।

इन सारे महत्वपूर्ण तथ्यों के बावजूद भी न रमन सरकार ने न भाजपा की केन्द्र सरकार ने रमन सिंह और अभिषेक सिंह

के कालेधन के निवेश की जांच नहीं करवायी?

अभिषाक सिंह कौन
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने पूछा है कि 15 साल की सत्ता चली जाने के बाद रमन सिंह अब तो बता दें कि

मुख्यमंत्री के कवर्धा के पते पर खाता खोलने वाला अभिषाक सिंह कौन है?

2 साल पहले पनामा की फर्म मोस्साक फोंसेका के कुछ पेपर लीक हुए थे,

जिसमें अभिषाक सिंह के नाम से मुख्यमंत्री रमन सिंह के कवर्धा वाले घर के पते पर करोड़ों रुपयों के विदेशी निवेश की बात उजागर हुई थी।

लगातार कांग्रेस कर रही जांच की मांग
उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के सांसद बेटे का नाम अभिषेक सिंह है।

लगातार कांग्रेस द्वारा इस मामले में जांच की मांग की जाती रही है।

कांग्रेस ने बार-बार मांग दोहराई है कि पनामा पेपर्स लीक मामले में अभिषाक सिंह के नाम और मुख्यमंत्री के गृह निवास के पते पर जो निवेश हुआ है,

उसकी जांच कर सच्चाई जनता के सामने लाई जाए।

परंतु इतने बड़े घोटाले में सूबे के 15 साल मुखिया रहे रमन सिंह की लगातार रहस्यमयी चुप्पी लगातार अनेक सवालों को जन्म देती रही।

मुख्यमंत्री रमन सिंह के घर पर अभिषाक सिंह के नाम से निवेश की कंपनी खोली जाती है।

इसकी जांच में ना तो स्वयं मुख्यमंत्री रमन सिंह, ना भाजपा की राज्य सरकार और ना भाजपा की केंद्र सरकार कोई रुचि नहीं दिखा रही है।

Bhojali festival: बरसों से चली आ रही मान्यता, गांव में भोजली त्यौहार की धूम, जानिए इसका महत्व

अभी तक कोई जांच ही नहीं गई है।

इससे कम तथ्यों के खुलासे पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की गद्दी चली गई।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button