कांकेर (उत्तर बस्तर)

Kanker: जनता को महंगाई का जोरदार झटका, आसमना छू रहे सब्जियों के दाम, बिगड़ा रसोई का बजट

प्रसेनजीत साहा@कांकेर। (Kanker) सब्जियों के दाम आसमान छू रहे हैं। अत्याधिक वर्षा होने के कारण सब्जियों का सड़ना और बाहर से सब्जियों के महेंगे दामों में आयात करने से सब्जी के भाव बढऩे लगे हैं। इसका असर बाजार में दिख रहा है। टमाटर और मिर्ची के दाम ने लोगों के घरों का बजट बिगाड़ दिया है।

(Kanker) अचानक लगातार बारिश अत्याधिक होने के कारण सब्जियों का उत्पादन में भारी गिरावट आई है, खेतों में सब्जियों के साथ साथ सब्जियों के पौंधे भी सड़ गए है । इसी कारण से सब्जियों के भाव आसमान छू रहे हैं। आम आदमी की जेब पर सब्जियां अतिरिक्त बोझ डाल रही है, जितने पैसों में कुछ दिनों पहले पूरे हफ्ते भर की हरी सब्जी मिल जाती थी, उतने पैसों मे अब दो दिन की भी सब्जी नहीं आ रही है। इसलिए लोगों के हर माह के बजट से ज्यादा पैसे खर्च हो रहे हैं, जिससे बजट गड़बड़ा रहा है।  आपको बता दे कि पखांजुर में बुधवार के साप्ताहिक हाट बाजार में हजारों की संख्या में लोग सब्जी खरीदने आते है ।

 Accident: दर्दनाक सड़क हादसा, ट्रक ने सायकल सवार को रौंदा, मौके पर तोड़ा दम
बाहर से आती हैं सब्जियां:-

(Kanker) सब्जी विक्रेताओं का कहना है कि खेतों में सब्जियों के साथ साथ सब्जियों के पौंधे भी सड़ गए है ।जिस कारण सब्जियां बाहर से आ रही हैं इसलिए भी भाव में बढ़ोत्तरी हुई है। अन्य शहरों से पखांजुर तक आने में सब्जियों का भाड़ा ज्यादा लगता है, और साथ ही साथ देश मे कोरोना महामारी के चलते लॉकडाउन पूर्णत खुली नही है । जिसके कारण भी सब्जियों के दाम अन्य शहर की अपेक्षा पखांजुर में ज्यादा हैं।

 Accident: दर्दनाक सड़क हादसा, ट्रक ने सायकल सवार को रौंदा, मौके पर तोड़ा दम
ये है सब्जियों के भाव:-

भिंडी- 70 रूपए किलो

टमाटर – 70 रूपए किलो

हरी मिर्च- 100 से 120 रूपए किलो

बैगन- 60 रूपए किलो

शिमला मिर्च- 80 से100 रूपए किलो

टिंडा- 60 रूपए किलो

हरा धनिया- 120 से160 रूपए किलो

करेला- 60 रूपए किलो

फूल गोभी- 60 रूपए किलो

परवल- 60 रूपए किलो

अरबी- 60 रूपए किलो

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button