Uncategorized

Koreya: इमरजेंसी हो तो डायल करें 112

संजय गुप्ता@कोरिया। (Koreya) छत्तीगढ़ राज्य में 4 सितंबर 2018 को डायल 112 सेवा की शुरुवात की गयी। जिसके अंतर्गत पुलिस, फायर, मेडिकल संबंधी आपातकालीन सेवा पीड़ित या कॉलर को प्रदान की जाती है । इसका संचालन राज्य के रायपुर, दुर्ग, महासमुंद, राजनांदगांव, कबीरधाम, बिलासपुर, कोरबा, जांजगीर चांपा, रायगढ़, सरगुजा, और जगदलपुर जिलों में किया जा रहा है। इसमें कुल 352 चारपहिया वाहन, 52 दोपहिया वाहन में 24 घंटे पुलिस के जवान ड्यूटी पर तैनात रहते हैं। (Koreya) इसका नियंत्रण कक्ष रायपुर में है। जिसे सी 4 कहा जाता है।

Corona: नहीं थम रहा कोरोना का कहर, 24 घंटे में सामने आए इतने नए केस, 2 संक्रमितों की मौत

(Koreya) कॉल करने बाद से शहरी क्षेत्रों में 10 मिनट में और देहांत में 30 मिनट में मौके पर पुलिस वाहन सहित पहुंचकर आपातकालीन सेवा के लिए तत्पर रहते हैं। 10 अन्य जिलों में सेवा को विस्तार दिया गया है। जिसमे बालोद, सूरजपुर, धमतरी, मुंगेली, गरियाबंद, जशपुर, बलरामपुर, कोरिया, बेमेतरा, बलोदा बाज़ार में भी सेवा दी जा रही है!

आपातकालीन स्थितियों में लोगों तक सुरक्षा पहुंचाने की यह प्रणाली अमेरिका, यूरोप के देशों में उपलब्ध है। 112 नंबर डायल करने पर जीपीएस प्रणाली के माध्यम से शहरी क्षेत्रों में दस मिनट एवं ग्रामीण क्षेत्रो में 30 मिनट में जरूरतमंद व्यक्ति तक सहायता पहुंचाई जाएगी।

112 डायल के शुरू होने से पहले बहुत सारे इमरजेंसी नंबर थे। जैसे पुलिस 100, स्वास्थ्य सेवाओं के लिए 108 ,जैसे फायर ब्रिगेड के लिए अलग-अलग नंबर याद रखने पड़ते थे। लेकिन अब आपको केवल 112 याद रखना है। इमरजेंसी चाहे वह पुलिस की हो,इमरजेंसी चाहे वह फायर की हो इमरजेंसी चाहे वह स्वास्थ्य की हो , *एक्के नम्बर सबो बर डायल 112

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button