विशेष

Holi 2021: 200 साल बीते मगर इस गांव में आज तक नहीं खेल गई होली, जानिए इसके पीछे की वजह

रांची। (Holi 2021) देशभर में आज रंगों का त्यौहार होली मनाया जा रहा है. लेकिन झारखंड के बोकारों जिले का दुर्गापुर नाम का गांव जहां 200 साल बीत चुके, मगर आज तक होली नहीं खेली गई है. अगर इस गांव में गुलाल उड़ा तो मौत होने लगती है, सदियों पुरानी परपंरा आज भी जारी है.

(Holi 2021) बोकारो के दुर्गापुर गांव में आज होली के दिन सन्नाटा पसरा है. इस पंचायत के लोग इस दिन दहशत मे जीते हैं और प्रार्थना करते हैं कि कोई अनजाने में भी आकार इस गांव में होली खेलकर न चला जाए. यहां के ग्रामीण पूरे दिन इसकी निगरानी करते रहते हैं. (Holi 2021) होली नहीं खेलने की परंपरा को आज भी दुर्गापुर के ग्रामीण कायम रखे हुए हैं. दुर्गापुर के ग्रामीण होली मे रंग-गुलाल नहीं खेलते, लेकिन होली के दिन सारे ग्रामीण पूरे सौहार्द के साथ बाकी सारी परंपरा निभाते हैं. 

ये हैं होली नहीं मनाने की वजह

गांव के बुजुर्ग बताते हैं कि सदियों पहले दुर्गापुर राजा दुर्गा देव की रियासत हुआ करती थी. एक दिन राजा दुर्गा देव के महल मे नर्तकी का नृत्य चल रहा था, उसी समय रामगढ़ के राजा दलेर सिंह के दो घुड़सवार सैनिक पश्चिम बंगाल के झालदा बाजार से रानी के लिए साड़ी लेकर दुर्गापुर के रास्ते से रामगढ़ लौट रहे थे. 

तभी राजा दुर्गा देव की नज़र घुड़सवारों पर पड़ी और उन्होंने दोनों को अपने दरबार में बुलाया. राजा ने सैनिकों से साड़ी लेकर नर्तकी को पहना दिया और फिर नृत्य करवाने के बाद साड़ी वापस सैनकों को दे दी. ग्रामीणों के अनुसार, जब रामगढ़ के राजा के इस बारे में खबर लगीं तो उन्होंने होली के दिन ही दुर्गा देव की हत्या कर दी. 

अगर खेली गई होली तो गांव में फैली महामारी

ग्रामीणों के अनुसार, वर्षो पूर्व दुर्गापुर में एक परिवार ने होली खेली थी, जिसका परिणाम यह हुआ की पूरे गांव मे महामारी फैल गयी. कई लोगों की जान चली गयी. जानवरों की भी मौत हो गयी थी. हालांकि, होली नहीं मनाना केवल गांव की सीमा तक ही प्रतिबंधित है. अगर कोई चाहे तो दूसरे गांव में जाकर होली मना सकता है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button