गरियाबंद

Gariyaband: जानिए ग्रामीणों द्वारा बताई गई कौन सी बात पर जिला पंचायत अध्यक्ष हुई नाराज, तुरंत दी कार्यवाही के निर्देश

रवि तिवारी@गरियाबंद। (Gariyaband) जिला पंचायत अध्यक्ष स्मृति नीरज ठाकुर अपने निजी प्रवास पर निकली थी। तभी कुछ ग्रामीणों से जानकारी मिली कि पीएमजीएसवाय विभाग के द्वारा निस्टिगुड़ा से सुपेबेडा के बीच किये जा रहे अप्रोच रोड के मरम्मत में तय मानक के अनुरूप काम ना करके संबंधित ठेकेदार द्वारा ठुक पालिश काम किया जा रहा है।

(Gariyaband) ग्रामीणों से जानकारी मिलने के बाद स्मृति ठाकुर खुद मौके पर पहुँची। इसके बाद उन्होंने काम मे उपयोग किये जा रहे गिट्टी को भी देखा। वही काम को देखने के बाद वह बहुत ज्यादा नाराज़ हुई।

(Gariyaband) दौरे से लौटने के बाद खबर छत्तीसी से चर्चा करते हुए जिला पंचायत अध्यक्ष स्मृति नीरज ठाकुर ने पीएमजीएसवाय विभाग के जिम्मेदारों पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि विभाग के जिम्मेदार अधिकारी ठेकेदार पर सब कुछ छोड़ कर दफ्तर में बैठे हैं। इसी के बदौलत ठेकेदार के द्वारा तय मानक के अनुरूप काम ना करते हुए मनमानी की जा रही। घटिया गिट्टी का उपयोग किया जा रहा है।

जिला पंचायत अध्यक्ष ने कहा कि वे मौके पर पहुँची थी। उन्हें वहां दिखा की ठेकेदार के लोगों द्वारा गिट्टी,सीमेंट और बालू का भी उपयोग तय मानक के अनुरूप नही किया जा रहा है। इसी के बदौलत काम में भी गुणवत्ता नज़र नही आ रही है।

सब इंजीनियर के जवाब से नाराज़ हुई जिला पंचायत अध्यक्ष

जिला पंचायत अध्यक्ष ने यह भी बताया कि जब उन्होंने मौके का निरीक्षण किया और पूरी वस्तू स्थिति की जानकारी देने के लिए उन्होंने संबंधित विभाग के सब इंजीनियर सौरभ दास से दूरभाष में चर्चा की। तो इंजीनियर ने यह कहते हुये मामले में पल्ला झाड़ लिया कि ठेकेदार उपेंद्र यादव देवभोग क्षेत्र में लंबे समय से काम कर रहे हैं। उनका काम बिल्कुल अच्छा है। वही नाराज़ जिला पंचायत अध्यक्ष ने साफ कर दिया है कि वे किसी भी शर्त में घटिया और स्तरहीन काम को बर्दाश्त नही करेंगी। उन्होंने जल्द ही मामले की शिकायत उच्च स्तर पर करने की बात कही है।

मजदूरी कम देने की बात आई सामने

 जिला पंचायत अध्यक्ष ने यह भी बताया कि वे जब दौरे पर पहुँची थी,तब वहां काम कर रहे मजदूरों से उन्होंने मजदूरी के संबंध में जानकारी मांगी। जिस पर वहां काम कर रहे मजदूरों ने बताया कि ठेकेदार द्वारा उन्हें 150 रुपये मजदूरी दी जाती है। जिला पंचायत अध्यक्ष ने यह भी बताया कि तय मानक के अनुरूप 195 रुपये मजदूरी दी जानी चाहिए,लेकिन ठेकेदार द्वारा नियमों को ताक पर रखकर मात्र 150 रूपये मजदूरी देकर ही काम लिया जा रहा है।

वही मामले में सब इंजीनियर सौरभ दास ने कहा कि अप्रोच रोड का रिपेरिंग तय मानक के अनुरूप ही किया जा रहा है,गुणवत्ताहीन काम किये जाने का आरोप गलत और निराधार है

Related Articles

2 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button