धमतरी

Dhamtari: बंद है सीसीटीवी कैमरों की आंखे, बड़ी घटना के इंतजार में पुलिस विभाग!

संदेश गुप्ता@धमतरी। (Dhamtari) जिले के मुख्य नेशनल हाईवे में लगाए गए सीसीटीवी कैमरे बंद पड़े हुए हैं। एक ओर जिले में चोरी और एक्सीडेंट के मामलों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। जिस पर पुलिस प्रशासन द्वारा लगातार प्रयास किया जा रहा है लेकिन इसमें पूरी तरह असफल सबित होते जा रहे है। जिले में अपराधों पर नियंत्रण के मद्देनजर प्रमुख स्थलों पर सीसीटीवी कैमरे लगवाए गए थे जो मौजूदा समय में बंद हैं।

(Dhamtari) अपराधिक घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए शासन ने चौक चौराहों और संवेदनशील इलाकों और थानों व चौकियों में सीसीटीवी कैमरे लगवाए थे।(Dhamtari)  आपराधिक घटनाओं को अंजाम देकर भागने वाले बदमाश इन कैमरों में कैद हो जाते थे। जबकि हालत यह है कि  शहर के चौराहों व चौकियों पर लगे कैमरे काफी महीनों से खराब पड़े हैं। कुछ के तार टूटकर झूल रहे हैं।  जिले के जिम्मेदार अधिकारी जानकर भी अनजान बने बैठे हैं। जिले में लगातर बढ़ रहीं अपराधिक घटनाओं के बाद भी आलाधिकारियों का ध्यान इस ओर नहीं पड़ रहा है। सीसीटीवी कैमरे खराब होने के कारण पुलिस कई मामलों में तह तक नहीं पहुंच सकी।

CBSE Exam Date: इस दिन सीबीएसई परीक्षाओं की तारीखों की घोषणा, शिक्षा मंत्री ने दी जानकारी

यातायात को मिला है बॉडी कैमरा..लेकिन कोई उपयोग नहीं…

धमतरी में यातायात विभाग को 3 बॉडी कैमरा मिला है। जो कि यातायात विभाग को इसका उपयोग करना चाहिए। लेकिन विभाग इसका प्रयोग क्यों नहीं कर रहा समझ से परे है। बता दें कि विभाग को 3 मुख्य चौक में खड़े जवानो के मदद के लिए बॉडी कैमरा दिया गया है। जो कि रत्नाबांधा चौक ,मकई चौक,सिहावा चौक में उपयोग होना है..अब देखना होगा की कैमरा का उपयोग कब होता है। या किसी बड़ी घटना का इंतज़ार करेगी यातायात विभाग।

अपराधिक घटनाओं को अंजाम देकर इसी रास्त से भागते है बदमाश

जिले के हर चौक चौराहों संवेदनशील इलाके, भीड़भाड़ वाले इलाके, हाईवे मार्ग मैं तीसरी आंख का होना जरूरी है। अपराधिक घटनाओं को अंजाम देने के बाद बदमाश इसी मार्ग से अन्य क्षेत्र की ओर भागते हैं। अगर यहां प्रशासन की तीसरी आंख रहे तो बदमाशों की पहचान हो सकती है। इसलिए मुख्य इन चौराहों के साथ ही शहर भर के अन्य चौराहों पर सीसीटीवी कैमरा लगाना अनिवार्य है और जो कैमरे बंद पड़े हुए हैं उन्हें शीघ्र चालू कराने की आवश्यकता है जिससे कि अपराध करने वाले लोगों के ऊपर डर बना रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button