सरगुजा-अंबिकापुर

Ambikapur: पानी में बहे करोड़ों रुपए, रिंग रोड पर बने ड्रेनेज सिस्टम की खुली पोल, जब धरना पर बैठे महापौर, तब नींद से जागा प्रशासन

शिव शंकर साहनी@अंबिकापुर. (Ambikapur) करोड़ों रूपये की  लागत से अंबिकापुर शहर में रिंग रोड का निर्माण किया गया.

लेकिन ये करोड़ों रुपए अब पानी में बहता नजर आ रहा है. बारिश ने ड्रेनेज सिस्टम की पोल खोलकर रख दी.

इधर लोगों की शिकायत पर जनप्रतिनिधियों नें सड़क विकास निगम को इस समस्या को दूर करने की बात कही लेकिन कोई कदम नहीं उठाया गया.

इससे नाराज होकर महापौर समेत बड़े कांग्रेसी नेता आज अंबिकापुर के मिशन चौक पर धरने पर बैठ गए.

(Ambikapur) इस बात की खबर लगते हीं प्रशासन की टीम धरनास्थल पर पहुंची. तत्काल नालियों की तोड़फोड़ शुरू की.

निगम ने पहले ही जताई थी आपत्ति

नगर निगम  महापौर अजय तिर्की नें बताया कि सीजीडीआरसी द्वारा निर्मित अंबिकापुर रिंग रोड के निर्माण के वक़्त

सड़क विकास निंगम को अवगत कराया गया था.

वाटर ड्रेनेज सिस्टम का स्तर ठीक नहीं है.

यही नहीं निगम की ओर से भी इस बात पर आपत्ति जताई गई थी.

Corona बना मुसीबत, रिमझिम बारिश के नीचे सब्जी बेचने को मजबूर विक्रेता, 3 मरीज मिलते ही सील हुआ था अस्थाई बाजार

 

(Ambikapur) लेकिन हमारे द्वारा बार-बार इस बात को लेकर ध्यानाकर्षण की कोशिश की गई.

इस मुद्दे पर ध्यान नही दिया गया. इसका नतीजा यह हुआ कि बारिश के मौसम में ड्रेनेज सिस्टम ब्लॉक हुआ.

लोगो को जलभराव की समस्या का सामना करना पड़ रहा है.

असमानता बनी वजह

इधर एसडीएम अम्बिकापुर अजय त्रिपाठी ने बताया कि रिंग रोड से लगकर निगम और शासन दोनों के द्वारा नाली का

निर्माण किया गया है।

दोनों नालियों के लेवल में असमानता होने की वजह से जलभराव की स्थिति निर्मित हुई है।

Janjgir-champa:  चुनाव में विकास का लॉलीपॉप, मगर तस्वीर जस की तस, आखिर कब सुधरेंगी सड़क, पूछ रहे ग्रामीण

हालांकि उन्होनें इस बात से इनकार किया कि यहाँ किसी तरह का धरना नेताओं के द्वारा दिया जा रहा है.

बहरहाल कांग्रेस की सरकार बनने के बाद शहर में यह पहला मौका है कि कोई सत्तारूढ़ पार्टी का नेता खुद किसी बात को लेकर धरने पर बैठे है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button