देश - विदेश

Corona Effect: लकड़ी की व्यवस्था नहीं होने पर लाशों को नदीं में फेंका जा रहा? 45 शव मिलने से फैली सनसनी

पटना। (Corona Effect) बक्सर के चौसा में महादेव घाट पर नदी किनारे बहकर लाशें आ रही हैं. महादेव घाट में किनारे में लाशों के अंबार की ये तस्वीरें आपको विचलित भी कर सकती है. ऐसा लगता है कि शवों ने महादेव घाट को पूरी तरह  ढक लिया है.

(Corona Effect) जिला प्रशासन ने इस मामले से पल्ला झाड़ते हुए कह दिया कि ये बिहार या बक्सर नहीं बल्कि उत्तर प्रदेश की लाशें हैं जो यहां बह कर आ गई हैं. हालांकि जैसे ही इस घटना का वीडियो सामने आया जिला प्रशासन के कान खड़े हो गए और लाशों के अंबार पर गोलमोल जवाब देने का सिलसिला शुरू हो गया. (Corona Effect)  चौसा के बीडीओ अशोक कुमार ने बताया कि करीब 40 से 45 लाशें होंगी जो अलग-अलग जगहों से बह कर महादेव घाट पर आ गई हैं.

लाशें यूपी से बहकर आ रही

बीडीओ ने साफ तौर पर कहा कि ये लाशें हमारी नहीं है. हम लोगों ने घाट पर चौकीदार को नियुक्त कर रखा है ताकि यहां लाशों का समुचित तरीके से अंतिम संस्कार किया जा सके. ये लाशें उत्तर प्रदेश से बहकर आ रहीं और यहां किनारे पर पहुंच गई हैं. यूपी की लाशों को यहां पहुंचने से रोकने का कोई उपाय नहीं है इसलिए हम इनके निपटारे की भी व्यवस्था कर रहे हैं.

कोरोना ने बक्सर सहित अन्य जिलो में मचाई तबाही

हालांकि इसी घटना के अगर दूसरे हिस्से को देखें तो कोरोना ने बक्सर सहित अन्य जिलो में तबाही मचा रखी है. महामारी की वजह से स्थानीय निवासी नरेंद्र कुमार मौर्य ने बताया कि चौसा घाट की स्थिति काफी दयनीय है.

लकड़ियों की व्यवस्था नहीं, शवों को गंगा में फेंक रहे

 उन्होंने कहा, कोरोना संक्रमण के कारण यहां रोज 100 से 200 लोग आते हैं और लकड़ी की व्यवस्था नहीं होने की वजह से लाशों को गंगा में ही फेंक देते हैं जिससे कोरोना संक्रमण फैलने का डर बना हुआ है. स्थानीय लोगों के मुताबिक प्रशासन ने यहां कोई व्यवस्था नहीं की है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button