राजनीति

Congress: विकास उपाध्याय ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ संग साझा किया मंच,कहा- फिर से कांग्रेस बनेगी कांग्रेस की सरकार

मुरैना (मध्यप्रदेश)। (Congress) संसदीय सचिव विकास उपाध्याय मध्यप्रदेश में हो रहे उपचुनाव में कांग्रेस के प्रचार को लेकर मुरैना जिले के सुमावली विधान सभा सीट में कांग्रेस प्रत्याशी अजब सिंह कुशवाहा के प्रचार के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ के साथ मंच साझा करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश में फिर से कांग्रेस की सरकार बनना निश्चित है।

(Congress) अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी ने मध्यप्रदेश के उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी के पक्ष में प्रचार करने छत्तीसगढ़ से कांग्रेस विधायक विकास उपाध्याय को आॅब्जर्वर बनाकर भेजा है। विकास उपाध्याय पिछले दो दिनों से मुरैना जिले के सुमावली विधान सभा में कांग्रेस प्रत्याशी अजब सिंह कुशवाहा के पक्ष में धुंआधार प्रचार कर रहे हैं। (Congress) इस दौरान विकास उपाध्याय ने जिला कांग्रेस कमेटियों की बैठक के साथ ही ब्लाॅक अध्यक्षों की भी बैठक बुलाकर एक-एक बूथ में किस तरह से एक रणनीति के तहत मतदाताओं को कांग्रेस के पक्ष में वोट करने अपने घरों से कैसे निकालना है का गुर सिखाया और कहा कि कांग्रेस के पक्ष में वोट मिलना बूथ मैनेजमेंट की ही मुख्य जिम्मेदारी होती है। इस पर किसी तरह की लापरवाही न बरती जाए।

Marwahi by-election: क्या मरवाही सीट पर जोगी परिवार की प्रतिष्ठा रहेगी कायम? या बीजेपी और कांग्रेस छीन लेंगी उनसे उनका गढ़….

इस बीच आज मुरैना के सुमावली विधान सभा में आयोजित विशाल रैली के मंच में विकास उपाध्याय ने पूर्व मुख्यमंत्री एवं मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ के साथ मंच साझा कर कहा कि मध्यप्रदेश की जनता सिर्फ कमलनाथ जैसे नेता के हांथों ही सुरक्षित हैं। उन्होंने मतदाताओं से आव्हान किया कि जिस भारतीय जनता पार्टी ने एक योजना के तहत चुनी हुई सरकार को मध्यप्रदेश में गिराने का काम किया, आज इस उपचुनाव के माध्यम से जवाब देने का अवसर है। उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ की तारीफ करते हुए कहा मुख्यमंत्री के तौर पर कमल नाथ सरकार ने चंद महिनों में ही जिस तरह से मध्यप्रदेश की जनता को एवं किसानों के हित में कर्ज माफी से लेकर तमाम वो निर्णय चंद मिनटों में लेकर एक संदेश दिया था। आज फिर से आप लोगों को मौका मिला है कि कांग्रेस प्रत्याशी को जीत दिलाकर फिर से एक बार कमल नाथ जी को मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बिठाएँ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button