बिलासपुर

Chhattisgarh: अब बहू ऋचा जोगी को लेकर फिर गरमाई राजनीति, संत कुमार नेताम ने कलेक्टर कोर्ट में दर्ज कराई आपत्ति, जानिए क्या है पूरा मामला

उपेन्द्र त्रिपाठी@गौरेला पेंड्रा-मरवाही। (Chhattisgarh) प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री दिवंगत अजीत जोगी के लंबे समय तक चले जाति मामले के बाद अब एक बार फिर उनकी बहू ऋचा जोगी की जाति को लेकर प्रदेश की सियासत गरमा गई है।

(Chhattisgarh) दरअसल कांग्रेसी नेता संत कुमार नेताम ने ऋचा जोगी के जाति प्रमाण पत्र को लेकर आपत्ति दर्ज कराई है। दरअसल नेताम ने बताया कि ऋचा जोगी का अनुसूचित जनजाति वर्ग का जाति प्रमाण पत्र मुंगेली एसडीएम चित्रकान्त चार्ली ठाकुर ने जारी किया है।

जिसमें गोंड आदिवासी जाति का जिक्र किया गया है इस पर आदिवासी नेता संत कुमार अमिताभ ने आपत्ति दर्ज करते हुए कहा है कि ऋचा जोगी गोंड जाति की सदस्य नहीं हैं।  जिसको लेकर 18 बिंदु की जानकारी दी है। दूसरा विवाद है कि ऋचा जोगी ने 15 जुलाई को जाति प्रमाण पत्र के लिए आवेदन दिया था, वहीं 48 घंटे के भीतर ही एसडीएम ने 17 जुलाई को गोंड आदिवासी  जनजाति प्रमाण पत्र जारी किया था। वहीं मामले में आपत्ति जताने पर कलेक्टर ने संज्ञान लिया। मुंगेली कलेक्टर पीएस एल्मा ने 8 अक्टूबर को मामले की सुनवाई के आदेश दिए हैं।

(Chhattisgarh) उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ राज्य बनने के बाद से अब तक मरवाही विधानसभा में जोगी परिवार का ही दबदबा रहा है। वहीं अब पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के निधन के बाद इस सीट पर एक ओर जहां सत्ताधारी दल कांग्रेस ने पूरी ताकत झोंक दी है, वहीं दूसरी ओर जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ भी बाजी हाथ से बाहर नहीं जाने देना चाह रही है। अमित जोगी लगातार विपक्षी दलों पर हमला बोल रहे हैं।

अमित जोगी ने भी इस  मामले में  ट्विटर हैंडल पर पोस्ट किया है। अमित ने लिखा मेरी धर्मपत्नी डॉक्टर ऋचा जोगी का पैतृक परिवार कम से कम 5 दशक से अनुसूचित जनजाति से सरकारी नौकरियां करता आ रहा है, तब किसी को उनकी जाति याद नहीं आई आज ऋचा का केवल एक ही दोष है कि वो स्वर्गीय अजीत जोगी जी और रेनू जोगी जी की बहू हैं, मेरी धर्मपत्नी, और मेरे 2 महीने के बेटे की मां है।

Chhattisgarh के नाम एक और उपलब्धि, वन अधिकार को मान्यता देने के मामले में छत्तीसगढ़ देश में अव्वल

जब मेरा पिताजी से नहीं निपट पाये तो अब मेरे दूध पीते बच्चे की मां के पीछे नहा धोकर पड़ गए। कांग्रेस और भाजपा जोगी परिवार की सामाजिक सम्मान की हत्या करने किसी भी हद तक जा सकती है। अपनी बहू की इज्जत में हाथ डालने वालों को जवाब अब मरवाही देगा। छत्तीसगढ़ के एक सीट पर हो रहे उपचुनाव के लिए 3 नवंबर के वोट डाले जाएंगे और 10 नवंबर को वोटों की गिनती होगी।

Janjgir-Champa: सर्पदंश और बिच्छू डंक की 2 अलग-अलग घटनाओं में 2 बच्चियों की मौत, अस्पताल ले जाते वक्त बीच रास्ते में तोड़ा दम

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button