सरगुजा-अंबिकापुर

Ambikapur: ठगी का साम्राज्य, झांसे में आई कई समूह की महिलाएं, अब रकम वापसी के लिए दर-दर भटकने को मजबूर…Video

शिव शंकर साहनी@अंबिकापुर। (Ambikapur) माइक्रो फाइनेंस कंपनी के झांसे में फंसकर कई समूह की महिला ठगी का शिकार हो गई। अब समूह की महिला अपनी रकम वापस लेने के लिए दर दर भटक रही है।

(Ambikapur)महिला स्वयं सहायता समूह की हजारों महीलाओं ने दरीमा निवासी  माइक्रो फाइनेंस कंपनी के  संचालक राजेश गुप्ता व उसे परिवार पर करोड़ो रुपए  गबन करने का आरोप लगाया है। समुह की महिलाओं का आरोप है कि उक्त परिवार के  द्वारा कई गांव की महिला समूह से पैसा जमा करने के नाम पर ठगी की गई। आरोपियों  ने महिलाओं के पैसे का दुरुपयोग कर तीन मंजिला घर बनवाया साथ ही कई गाड़ियां भी खरीदी। इसके बाद आरोपियों को फलता फूलता देख समूह की महिलाओं ने उन्हें पैसा देना बंद कर दिया।  (Ambikapur)जब समूह की महिलाएं आरोपियों से पैसा वापस करने की मांग करने लगी तो आरोपी पैसा देने में आनाकानी करने लगे। तब समूह की महिलाओं को समझ में आया कि वह ठगी का शिकार हो चुकी है।

Corona: प्रदेश की ये महिला विधायक हुई कोरोना संक्रमित, ट्वीट कर दी जानकारी, पढ़िए पूरी खबर

महिलाओं ने थाने में किया शिकायत

इसके बाद पीड़ित महिलाओं ने मामले की शिकायत दरिमा थाने में की। दरिमा पुलिस आरोपी राजेश गुप्ता के खिलाफ कार्यवाही कर जेल भेज दिया। वही परिवार के अन्य सदस्य घर छोड़कर फरार हो गए। लेकिन समूह की महिलाओं को उनका पैसा अब तक वापस नहीं मिल सका है। महिलाएं अपनी रकम वापस लेने के लिए कभी जनप्रतिनिधि तो कभी कलेक्ट्रेट की चक्कर लगा रही है। इसी कड़ी में समूह की कुछ महिलाएं ने एसडीओपी को ज्ञापन सौंप उक्त आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई और पैसा वापस दिलाने की मांग की है।

BJP प्रत्याशी डॉ. गंभीर सिंह भरेंगे नामांकन फॉर्म, ये नेता रहेंगे मौजूद

2 आरोपी गिरफ्तार

वही इस मामले में एसडीओपी चंचल तिवारी ने बताया कि स्वयं सहायता समूह कि महिलाओँ के द्वारा ठगी की शिकायत दरिमा थाने में की गई हैं। शिकायत के पश्चात दरिमा पुलिस ने मामले को इंवेस्टिगेशन में लिया था। जिसके बाद पूर्व में ही दो आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था। वही बुधवार को फरार दो आरोपियों को भी गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया हैं। वही उन्होने बताया कि स्वयं सहायता समूह की महिलाओं के पैसे की वापसी के लिए आरोपियों के चल अचल संपत्ति की ब्यौरा मजिस्ट्रेट को पत्र के जरिए दे दिया गया है। साथ ही महिलाओँ के द्वारा जिन बैंके से लोन लिया गया हैं उन बैंकों नोटिस जारी कर वेरिफिकेशन किया जाएगा। स्वयं सहायता समूह कि महिलाओँ को इस मामले में वैधानिक कार्यवाही किए जाने का आश्वासन दिया गया हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button