राजनीति

Vikas tiwari ने बीजेपी पर तंज कसते हुए कहा- नीलामी प्रक्रिया में तनातनी के चलते अटकी प्रदेश भाजपा की कार्यकरणी

रायपुर. (Vikas tiwari )छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता एवं सचिव विकास तिवारी ने भारतीय जनता पार्टी के अंदर चल रहे

गुटबाजी और धन पिशाचों की लड़ाई पर तंज कसते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ की प्रदेश भाजपा में लगातार विधानसभा

2014 के पूर्व ही गुटबाजी की जंग छिड़ी हुई है

जिसके कारण डॉ रमन सिंह और धरमलाल कौशिक के नेतृत्व में हुए विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी का सूपड़ा साफ हो गया.

(Vikas tiwari )वह मात्र चौदह सीटों पर सिमट गई.

वहीं दूसरी ओर प्रदेश में नगर निगम,नगर पालिका और पंचायत के चुनाव में भी भारतीय जनता पार्टी का सूपड़ा साफ हो गया.

राज्य में सम्पूर्ण दो विधानसभा के उपचुनाव में भी रमन सिंह और धरमलाल के चेहरे पर भाजपा को करारी हार का सामना करना पड़ा.

लगातार डॉ रमन के चेहरे पर हो रही हार से भारतीय जनता पार्टी का एक बहुत बड़ा धड़ा नाराज,परेशान और कुंठित है.

युवा नेताओं का कहना है कि पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह और धरम लाल कौशिक भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश इकाई

को अपनी जागीरदारी बना डाले हैं.

पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह इतनी बड़ी हार के बाद राष्ट्रीय उपाध्यक्ष भारतीय जनता पार्टी और अपने समर्थित विधायक

धरमलाल कौशिक को नेता प्रतिपक्ष बनाने में सफल हो गये.

वहीं कुछ महीने पूर्व प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष नंदकुमार साय जिन्हें भारतीय जनता पार्टी के नेता रमन सिंह की गाय कहते हैं.

(Vikas tiwari )उन्हें भी पद दिलाने में डॉक्टर रमन सिंह सफल रहे।

 

 धन-पिशाचों और कमीशनखोरो ने शीर्ष पदों पर नीलामी प्रक्रिया शुरू

कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश इकाई में धन-पिशाचों और कमीशनखोरो ने

शीर्ष पदों पर नीलामी प्रक्रिया शुरू कर दी है.

जिसका प्रत्यक्ष प्रमाण भारतीय जनता युवा मोर्चा के शीर्ष पद पर एक पूर्व कलेक्टर जो कि गंभीर और संगीन भ्रष्टाचार

के आरोपो और आदिवासियों की जमीन के हेराफेरी के मामले पर फंसा हुआ है.

जिस पर देश की सर्वोच्च न्यायालय सुप्रीम कोर्ट ने कार्रवाई करने के लिए अनुशंसा भी की है.

सूत्रों के हवाले से पता चला है कि पूर्व कलेक्टर रमन राज में करोड़ों रुपया कमीशन खोरी से अर्जित किए हुए.

राशि में से भाजयुमो का शीर्ष पद पाने के लिये करोड़ो रुपयों की बोली लगा चुके हैं .

उनका उस पर बैठना लगभग तय माना जा रहा है।

वहीं दूसरी ओर प्रदेश भाजपा में भी लगातार शीर्ष पदों में आसीन होने के लिए पूर्ववर्ती रमन सरकार के पूर्व मंत्री पूर्व

निगम मंडल आयोग अध्यक्ष और भाजपा के वह नेता जो पिछले 15 सालों में अकूत धन संपत्ति जो उन्होने

कमीशनखोरी करके कमाये हैं.

उनके उनके द्वारा इन पदों पर ऊंची बोली और करोड़ों रुपया

नीलामी प्रक्रिया के तहत पद खरीदने का कुचसित प्रयास कर रहे है।

 

 प्रदेश इकाई लगभग खात्मे के कगार पर

कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश इकाई लगभग खात्मे के कगार में है.

धन-पिशाचों,कमीशनखोरो के द्वारा पार्टी के शीर्ष पदों को उसी प्रकार खरीदा जा रहा है.

जिस प्रकार भेड़ बकरी की मंडी में व्यापारी से ग्राहक मोटी रकम देकर जानवर खरीदता है.

प्रदेश भाजपा के शीर्ष नेताओं के इस कृत्य से भाजपा के युवा नेता अपने आप को ठगा सा महसूस कर रहे हैं.

वह कुंठित होकर सोशल मीडिया में लगातार अपनी ही पार्टी के शीर्ष नेताओं पर करोड़ो रूपये लेकर शीर्ष पद बेचने का

गंभीर आरोप लगा रहे हैं।

 

शीर्ष पद में खरीद-फरोख्त का काम

कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी ने मांग की है कि भारतीय जनता पार्टी के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह और पूर्व कृषि मंत्री

बृजमोहन अग्रवाल को जनता के बीच इस बात  का स्पष्टीकरण देना चाहिए

क्या प्रदेश भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष पद में खरीद-फरोख्त का काम हो रहा है.

नही तो प्रदेश अध्यक्ष बने विष्णुदेव साय अब तक अपनी कार्यकरणी क्यो घोषित नही किये है.

क्या बड़े पदों में धन पिशाचो ने बड़ी बोली लगाकर अपने समर्थकों को बैठाने की जुगत में हैं.

क्या भारतीय जनता युवा मोर्चा में पूर्व कलेक्टर की नियुक्ति हेतु भी करोड़ों रुपयो की बोली लगाई गई है.

अगर नही तो क्या इस पद पर  किसी सामान्य कार्यकर्ता की नियुक्ति करेंगी भाजपा।

इन सभी बातों का खुलासा तत्काल आम लोगो के समक्ष करना चाहिये।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button