Uncategorized

Raipur: पत्रकार अर्णव गोस्वामी के खिलाफ कांग्रेस विधायक ने दर्ज कराया FIR, कही ये बात

रायपुर। (Raipur) संसदीय सचिव विकास उपाध्याय आज टीवी पत्रकार अर्णव गोस्वामी के खिलाफ रायपुर के सिविल लाईन थाने में शिकायत दर्ज कर आरोप लगाया कि उक्त पत्रकार यूपी के हाथरस प्रकरण में कांग्रेस पार्टी को बदनाम करने के नियत से अपने न्यूज चैनल ‘रिपब्लिक टीवी में फर्जी आडियो प्रसारित कर भाजपा के एजेंट की तरह काम कर रहा है। (Raipur) विकास उपाध्याय ने इतना ही नहीं उक्त पत्रकार की शिकायत भारतीय प्रेस परिषद (Press Council of India ; PCI) से भी कर उच्चस्तरीय जाँच की माँग की है।

(Raipur) विकास उपाध्याय ने आज टीवी पत्रकार अर्णव गोस्वामी पर आरोप लगाया कि वह स्वयं के द्वारा गलत नियत से बनाई गई ऑडियो टेप को अपने न्यूज चैनल ‘रिपब्लिक टीवी’ में प्रसारित कर जोर जबरन कांग्रेस का नाम जोड़ कर बदनाम कर रही है। अर्णव गोस्वामी की नियत भाजपा के एजेंट के रूप में प्रतीत  होती है। देश के तमाम प्रतिष्ठित न्यूज चैनल के ठीक उलट हाथरस के मामले को अर्णव गोस्वामी ने एक बदनाम राजनैतिक रंग देने का प्रयास किया है और इस पूरे प्रकरण में उक्त कथित पत्रकार ने मूल मुद्दे से हट कर व्यक्तिगत रूप से कांग्रेस पार्टी को टारगेट करते हुए बदनाम किया है। इस आचरण से स्वच्छ पत्रकारिता पर भी एक सवालिया प्रश्न खड़ा हो गया है, जोकि एक अपराध की श्रेणी में आता है।

Corona: भाजपा नेता ओपी चौधरी की पत्नी कोरोना पॉजिटिव, ट्वीट कर दी जानकारी

विकास उपाध्याय ने अर्णव गोस्वामी के कांग्रेस पार्टी के प्रति गलत आचरण को लेकर थाने तक ही नहीं बल्कि उन्होंने आज भारतीय प्रेस परिषद (Press Council of India ; PCI) से भी पूरे प्रकरण की शिकायत भेजी है और अनुरोध किया है कि उक्त कथित पत्रकार के विरुद्ध उच्चस्तरीय जाँच कमेटी गठित कर न्यूज चैनल ‘रिपब्लिक टीवी’ पर प्रतिबंध लगाने के साथ ही कथित पत्रकार अर्णव गोस्वामी पर भी पत्रकारिता से प्रतिबंधित किया जाए।

Janjgir-Champa: आप पार्टी की चेतावनी, नहीं तो 12 अक्टूबर को देंगे……Video

विकास उपाध्याय ने ये भी कहा कि संविधान में  प्रेस या मीडिया की स्वतंत्रता का कहीं कोई सीधा उल्लेख नहीं किया गया है। जिसका अर्णव गोस्वामी गलत फायदा उठा रहा है। बावजूद संविधान के अनुच्छेद 19(2) में कहा गया है की स्वतंत्रता के मौलिक अधिकार पर केवल युक्तियुक्त प्रतिबन्ध ही लगाए जा सकते है। सर्वोच्च न्यायलय ने कुछ मामलों में मीडिया पर युक्तियुक्त प्रतिबंध लगाने को तर्कसंगत ठहराया है। जिसमें

शिष्टाचार/सदाचार भी शामिल है और अर्णव गोस्वामी इसी का उलंघन कर रहा है।आज इस दौरान कांग्रेस के प्रमोद दुबे, गिरीश दुबे,कन्हैया अग्रवाल, संदीप तिवारी, धनंजय ठाकुर सहित काफी संख्या में कांग्रेस के लोग सिविल लाइन थाना में मौजूद थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button