रायपुर

Raipur: हर साल की तरह राजिम जयंती मनाएगा साहू समाज, पर स्वरुप होगा छोटा

रायपुर। (Raipur) साहू समाज हर साल की तरह इस साल भी सात जनवरी को भक्त माता राजिम जयंती का आयोजन करेगा। लेकिन कोरोना संक्रमण के प्रभाव को ध्यान में रखते हुए इसका स्वरुप छोटा रखा जाएगा। प्रदेश साहू संघ के अध्यक्ष अर्जुन हिरवानी ने प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक के बाद इसकी घोषणा की। इसी तरह एक जनवरी को पूर्व सांसद स्वर्गीय ताराचंद साहू की जयंती मनाने के साथ ही साहू समाज अब अपने समाज के पुरोधाआें की जयंती मनाने की शुरुआत भी करने जा रहा है। 

(Raipur) बैठक में हुए निर्णयों की जानकारी देते हुए प्रदेश साहू संघ के मीडिया संयोजक कौशल स्वर्णबेर ने बताया कि हर साल सात जनवरी को भक्त माता राजिम की जयंती भव्य तरीके से मनाई जाती है। लेकिन कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखते हुए राज्य शासन द्वारा जारी गाइडलाइन के आधार पर कार्यक्रम की रुपरेखा तय करने के लिए प्रदेश साहू संघ की कार्यकारिणी की बैठक शनिवार को टिकरापारा स्थित प्रदेश साहू संघ के कार्यालय में रखी गई थी। जिसमें समाज के सभी जिलाध्यक्षों आैर प्रदेश पदाधिकारियों ने इस विषय पर अपने विचार व्यक्त किए। समाज के प्रदेश मीडिया संयोजक कौशल स्वर्णबेर ने बताया कि प्रदेश अध्यक्ष अर्जुन हिरवानी से सभी पदाधिकारियों के सुझाव सुनने के बाद अपनी बात रखी। उन्होंने कहा कि कोरोना के दौर में हम यह आयोजन करने जा रहे हैं। हर साल भव्य तरीके से राजिम जयंती मनाई जाती रही है इसलिए इस साल राजिम जयंती हर बार की तरह ही मनाई जाएगी लेकिन इसका स्वरुप छोटा रखा जाएगा। इस बार हर साल की तरह भीड़ नहीं होगी। सीमित रुप में हम भक्त माता राजिम की जयंती पारंपरिक रुप से मनाएंगे।

समाज सुधार के लिए हर साल एक बड़ा संदेश जाना चाहिए: थानेश्वर

कार्यक्रम में विशेष रुप से पहुंचे प्रदेश साहू संघ के पूर्व अध्यक्ष आैर पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष थानेश्वर साहू ने कहा कि मैं साहू समाज की सेवा के लिए हमेशा तत्पर रहूंगा। उन्होंने कहा कि हम हर साल भव्य तरीके से राजिम माता की जयंती का आयोजन करते हैं। इस कार्यक्रम में प्रदेशभर से समाज के लोग आते हैं। उनके मन में यह लालसा रहती है कि इस बड़े सम्मेलन से कोई ऐसा संदेश निकलना चाहिए जिसका पूरे समाज पर असर हो। श्री साहू ने कहा कि लोगों की अपेक्षाआें को ध्यान में रखते हुए हर साल होने वाले इस विशाल सम्मेलन के माध्यम से समाज सुधार के लिए कोई न कोई एक ऐसा संदेश निकलना चाहिए जो समाज को आगे बढ़ाने आैर समाज के विकास में सहायक हो। उन्होंने इस अवसर पर समाज की विभूतियों के नाम से पुरस्कार देने की योजना बनाने की बात भी कही।

समाज के पुरोधाआें की जंयती भी मनाई जाएगी

प्रदेश मीडिया संयोजक कौशल स्वर्णबेर ने बताया कि बैठक में एक जनवरी को स्वर्गीय ताराचंद साहू की जयंती मनाए जाने को लेकर भी विचार-विमर्श किया गया। इस दौरान समाज के लोगों ने स्वर्गीय ताराचंद साहू के साथ ही पांच ऐसी विभूतियों के नाम भी सामने लाए जिन्होंने समाज के उत्थान में अपनी अहम भूमिका निभाई थी। मीडिया संयोजक ने बताया कि पदाधिकारियों द्वारा लाए गए नाम के आधार पर प्रदेश अध्यक्ष अर्जुन हिरवानी ने कहा कि स्वर्गीय ताराचंद साहू की जयंती मनाने के साथ ही समाज अपने पुरोधाआें की जयंती भी मनाने की शुरुआत करेगा। इसके लिए सभी जिलाध्यक्षों को निर्देश जारी कर दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि आज की बैठक में पांच विभूतियों दाऊ उत्तम साव, नाथू राम साहू, बलदेव साव, भगत साव आैर ताराचंद साव के नाम सामने आए हैं इन सबका इतिहास आैर जीवनी मिलते ही इन सभी विभूतियों की जयंती का आयोजन किया जाएगा। 

बैठक में ये सब रहे मौजूद

बैठक में प्रदेश साहू संघ के पूर्व अध्यक्ष आैर संरक्षक विपिन साहू,कार्यकारी अध्यक्ष शांतनु साहू,उपाध्यक्ष द्वय सरिता साहू,तुलसीदास साहू, संयोजक महिला प्रकोष्ठ यामिनी साहू, बंटी साहू, टहल साहू, रमेश साहू, बृजेश साहू, चित्ररेखा साहू, संदीप साहू,चूड़ामणि साहू,अंगेश्वर साहू,ऋषि साहू,योगेश साहू,देवेंद्र साहू,ओमप्रकाश साहू,घनश्याम साहू,रामगोपाल साहू,प्यारे साहू,आनंद साहू,जयंत साहू,समस्त जिला अध्यक्ष सहित प्रदेश कार्यकारिणी के पदाधिकारिगण उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन प्रदेश साहू संघ के प्रभारी महामंत्री प्रवीण साहू ने किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button