जांजगीर-चांपा

Janjgir champa: गुंडों की गुंडई, दहशत में परिवार, आखिर पुलिस कब करेंगी कार्रवाई

हेमंत पटेल@जांजगीर चांपा. (Janjgir champa) क्षेत्र के ग्राम पंचायत गिद्दा मे चंदू यादव, राजू यादव, जवालाल के गुंडागर्दी से कमलेश कश्यप और उनके पूरे परिवार दशहत  में हैं.

इन लोगों को हर समय भय छाया हुआ है।

पीड़ित कमलेश यादव का कहना है कि कल शाम 6:30 बजे रोज की भांति कमलेश यादव अपने सहयोगी शिव शंकर  रात्रे के साथ अपने होटल पर बैठे हुए थे.

(Janjgir champa) तभी चंदू यादव, राजू यादव, और जवालाल तीनों ने कमलेश यादव के दुकान में नाश्ता करने के लिए आए .

उसके पास मिर्ची का चटनी मांगे. चटनी ठीक से नहीं बना है करके उसे गाली गलौज करने लगे.

बोले की तुम पहले मेरे नाम से तथा मेरे भाई के नाम से थाने में रिपोर्ट दर्ज कराया है.

(Janjgir champa) पुलिस वाले मेरा कुछ नहीं कर सकते हैं. यह कहकर कमलेश यादव को डराने लगे.

वेल्ट निकालकर कमलेश कश्यप को पीटने लगे तीनों

ऐसा कहते हुए वेल्ट निकालकर कमलेश कश्यप को मारने लगे.

जिससे कमलेश कमलेश कश्यप के दाहिने आंख के पास चोट लग गया.

जिससे कमलेश कश्यप  के आंख के सामने अंधेरा छा गया उसे कुछ दिखाई नहीं दिया.

फिर तीनों चंदू यादव, राजू यादव जवालाल ने घसीटते हुए कमलेश कश्यप को दुकान से बाहर निकालकर डंडे और बेल्ट से पीटने लगे. जिससे सिर में  चोटे आई है.

कमलेश कश्यप को धमकी दिया है की पुलिस थाना मेरे हाथ में हैं.

मेरा कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता और तुम ज्यादा  इधर-उधर करेगा तो हम तुम्हें जान से मार देंगे.

सहयोगी से भी की मारपीट

इस प्रकार से धमकी देते हुए उनके सहयोगी शंकरलाल रात्रे को भी हाथ मुक्का से मारपीट किया.

जिसकी रिपोर्ट लिखवाने कमलेश यादव ने नवागढ़ थाना पहुंचे.

जहां पर रिपोर्ट लिखने के लिए मुंशी को बोले तो उन्होंने रिपोर्ट लिखने से इनकार कर दिया.

जब पीड़ित ने टीआई साहब से मिलना चाहा.

तो उन्हें उनके पास मिलने नहीं दिया.

बोले कि कल सुबह आना तब रिपोर्ट लिखेंगे.

रिपोर्ट लिखवाने के एवज में पैसों की मांग

प्रार्थी दूसरे दिन जब थाना पहुंचा तो उसके पास रिपोर्ट लिखने के लिए मुंशी द्वारा पैसे की मांग किया गया.

जब उन्होंने 500 दिया तभी उनका रिपोर्ट लिखा गया.

पीड़ित कमलेश कश्यप का कहना है कि चंदू यादव राजू यादव और जवां लाल के द्वारा  15 दिन पहले भी लड़ाई झगड़ा किया गया था.

जिसकी शिकायत नवागढ़ थाने में किया गया था.

जिसकी कार्रवाई आज तक नहीं हुई है.

जिससे इन गुडों का हौसला और बढ़ गया है.

दुकान में रखे पैसे भी लेकर हुए फरार

साथ  ही दुकान के गल्ले में रखे 7 हजार रुपए उसे और एक मोबाइल लूटकर फरार हो गए.

जिसकी  रिपोर्ट नवागढ़ थाने में किया गया है.

अब देखना यह होगा की ऐसे गुंडागर्दी करने वाले तथा पैसे लेकर रिपोर्ट लिखने वाले पुलिस के उपर शासन प्रशासन क्या कार्य करती है ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button