बीजापुर

Bijapur news: भीषण बारिश का कहर, कई गांवों से संपर्क टूटा, टापू बने इलाके, प्रभावित इलाकों का जायजा लेने पहुंचे विधायक

दंतेश्वर कुमार@बीजापुर. (Bijapur news) जिले में लगातार रूक-रूक कर हो रही मूसलाधार बारिश ने लोगों का जीवन पूरी तरह अस्त व्यस्त कर दिया है. अभी कुछ घंटों से अंचल में बारिश थोड़ी जरूर थमी है. लेकिन भारी बारिश के कहर के निशान अंचल में हुई तबाही के प्रमाण हैं. हालांकि बीते 24 घंटे में नदी नालों का पानी उतरने लगा है. लेकिन बाढ़ से मची तबाही से उबरने में अभी और वक्त लगेगा। बाढ़ का सर्वाधिक नुकसान मिनगाचल, कुटरू इलाके में हुआ है। कुटरू इलाके में  तुमला, झाड़ीगुटटा, गुदमा और मिनगाचल इलाके के कई गांवों में बाढ़ का कहर ऐसा बरपा कि लोग सड़कों पर आ गए।

(Bijapur news)इलाके में दर्जनों मकान ढह गए। पालतु मवेशी बाढ़ में बह गए। खेतों में खड़ी फसल सपाट हो गई। घरों में रखे कपड़े,धान सब कुछ बाढ़ में बह गया। बच गए तो इन घरों में रहने वाले लोग, जो अचानक आई बाढ़ में किसी तरह संभल गए और अपनी जान बचाने में कामयाब हो गए।

Chhattisgarh में रक्षा श्रेणी के उद्योग की पहली इकाई की स्थापना, एमओयू पर हस्ताक्षर, इतने लोगों के लिए खुला रोजगार का द्वार

(Bijapur news)रविवार की दरम्यानी रात अचानक आई बाढ़ से  कई इलाकों का संपर्क टूट चुका था,  और  हालात टापू जैसे थे। मगर अब नदी-नालों का जलस्तर अब धीरे-धीरे घटने लगा है और  प्रशासनिक अमला जिले के चारों विकासखंडों में बाढ़ से मची तबाही का जायजा लेने निकल पड़ा।

बाढ़ प्रभावित इलाकों का जायजा लेने पहुंचे विधायक

क्षेत्र के विधायक विक्रम मंडावी भी बाढ़ प्रभावित इलाकों के दौरे पर दिखे। विधायक अधिक प्रभावित तुमला, गुदमा, झाड़ीगुट्टा गांव पहुंचे। जहां उन्होंने बाढ़ पीड़ितों से मुलाकात कर नुकसान का जायजा लिया। इसी तरह कलेक्टर बीजापुर एसडीएम, तहसीलदार भी भोपालपट्नम, मिनगाचल, कुटरू इलाके के दौरे पर रहे। बाढ़ की वजह से  उजड़े आशियाने के प्रभावितों को उजड़ने के बाद प्रभावित परिवारों को राहत शिविरों में शिफ्ट कराया जा रहा है। इसके बाद भी प्रभावितों को फौरी तौर पर यथा सम्भव मदद नहीं मिल रही है. नुकसान का आंकलन कर रिपोर्ट बनाई जा रही है। फिर भी स्थिति सामान्य होने में अभी और वक्त लगेगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button