गरियाबंद

Gariyaband: आखिर क्यों जारी करना पड़ा जिला पंचायत सीईओ को बड़ा आदेश?

रवि तिवारी@गरियाबंद। (Gariyaband) पंचायतों में नियम कायदे को ताक पर रखकर लगाए गए सोलर लाइट को लेकर तत्कालीन जिला पंचायत सीईओ विनय कुमार लंगेह ने बड़ी कार्रवाई की है। जांच प्रतिवेदन के आधार पर 16 पंचायतों से वसूली किये जाने के लिए देवभोग एसडीएम अनुपम आशीष टोप्पो को पत्र जारी किया है।

Farmer Protest: विदेशों में किसान आंदोलन की गूंज, अब ब्रिटेन की संसद में उठा भारत के किसानों का मुद्दा, पढ़िए

(Gariyaband) जारी किए गए पत्र में उल्लेखित किया गया है कि 16 ग्राम पंचायतों द्वारा 14वे वित्त योजना से संबंधित एजेंसियों को 61 लाख 39 हज़ार 750 रुपये का भुगतान किया गया है। जो कि नियम के विपरीत है,ऐसे में नियमों के विपरीत भुगतान किए जाने से वसूली योग्य है।

Chhattisgarh: किसानों से सीएम की बातचीत, धान खरीदी केन्द्रों पहुंचे मुख्यमंत्री , व्यवस्थाओं की ली जानकारी

मिली जानकारी के अनुसार क्षेत्र क्रमांक 10 की जिला पंचायत सदस्य ने मामले में जिला पंचायत सीईओ को लिखित शिकायत किया गया था। देवभोग ब्लॉक के पंचायतों में नियम कायदे को ताक पर रखकर सोलर लाइट लगाया है।

वही शिकायत मिलने के बाद जिला पंचायत सीईओ विनय लंगेह ने तीन सदस्यीय जांच टीम बनाकर मामले की जांच करवाई। जांच टीम ने पाया कि देवभोग ब्लॉक के करीब 36 पंचायत के सरपंच और सचिव ने नियम कायदे को ताक पर रखकर सोलर लाइट पंचायतों में लगवा दिया।

(Gariyaband) जांच में टीम को पता चला कि 16 पंचायतों के सरपंच और सचिव ने नियमों के विपरीत 14वे वित्त की राशि से संबंधित एजेंसियों को भुगतान कर दिया। टीम ने यह भी पाया कि जनपद पंचायत देवभोग अन्तर्गत उक्तानुसार ग्राम पंचायतों द्वारा अक्षय ऊर्जा स्त्रोतो आधारित योजनाओं के कार्य स्वयं अपने स्तर पर कराए गए है। जो शासन के आदेश का स्पष्ट उल्लघंन है।

उक्त कराए गए कार्यों की गुणवत्ता एक रूपता,संचालन रखरखाव इत्यादि के कोई मापदंड का पालन नही किये जाने के कारण भविष्य में इन सयंत्रो का अकार्य शील होना स्वभाविक है।

 क्रेडा से बिना संपर्क किये लगवा दिया एजेंसियों ने सोलर लाइट

जांच टीम ने यह भी पाया कि जिन 16 ग्राम पंचायतों के द्वारा सोलर लाइट स्थापना कर एजेंसियों को भुगतान किया गया है,उन एजेंसियों ने सोलर लाइट पंचायतों में लगाने के लिए कभी क्रेडा से संपर्क ही नही किया,वही संबंधित

क्रेडा से नहीं किया गया संपर्क

एजेंसियों से क्रेडा से अधिकृत होने के विषय मे जब जिला पंचायत कार्यालय ने क्रेडा से पत्र व्यवहार किया तो मामले में जानकारी देते हुए जारी किए गए पत्र के जवाब में सहायक अभियंता क्रेडा जिला गरियाबंद ने पत्र के माध्यम से बताया कि सोलेक्सी एको पावर सोलुशन नहर पारा रोड शुक्ला काम्प्लेक्स रायपुर छत्तीसगढ़ एवं स्वेतार्क सोलर तिरंगा नगर भिलाई खुर्सीपार ही क्रेडा द्वारा अधिकृत एंजेसी है।

इसके साथ ही जनपद पंचायत देवभोग अन्तर्गत ग्राम पंचायतों में सोलर लाइट स्थापना हेतु पंचायतों द्वारा क्रेडा से किसी भी प्रकार का संपर्क नही किया गया है। उक्तानुसार 16 ग्राम पंचायतों में स्थापित सोलर लाइट का भुगतान 14वे वित्त योजना की राशि से किया गया है।

वही जांच टीम ने जांच रिपोर्ट में यह भी बताया है कि देवभोग ब्लॉक के किसी भी ग्राम पंचायतों के जीपीडीपी कार्ययोजना में सोलर लाइट स्थापना संबंधी कार्य को शामिल नही किया गया है,

मामले में एसडीएम अनुपम आशीष टोप्पो ने कहा कि 16 पंचायतों से वसूली के लिए पत्र जिला पंचायत से प्राप्त हुआ है,जल्द ही प्रकरण दर्ज कर वसूली करने की कार्रवाई तेज़ की जाएगी

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button