गरियाबंद

Gariyaband: क्या हुआ तेरा वादा!..साफ पानी सुपेबेड़ा वासियों के लिए बना सपना, अब ग्रामीणों ने किया ये काम

गरियाबंद। (Gariyaband) किडनी प्रभावित ग्राम सुपेबेड़ा में  तेल नदी से पानी देने का वादा शासन-प्रशासन ने  सपेबेड़ा के ग्रामीणों से किया था।

(Gariyaband) जिससे सुपेबेड़ा के ग्रामीणों में साफ पानी पीने कि आस जगी थी। लेकिन आज इन नेताओं के वादे को एक साल से भी ज्यादा समय बीत चुका है।(Gariyaband)  किन्तु ग्राम सुपेबेड़ा के ग्रामीणों को आज तक तेल नदी से पानी नहीं मिल पाया। जिससे अब सुपेबेड़ा के लोगो के मन से साफ पानी की जो लालसा थी। वो अब पूरी तरह से टूटती हुई नजर आ रही है।

गौरतलब है कि यह वही सुपेबेड़ा है जहां खराब आयरन युक्त पानी पीने की वजह से अब तक 70 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। लेकिन इतने लोगों की मौत के बाद भी प्रशासन  का यह रवैया और भी मौतों को आमंत्रण देता दिख रहा है।

आखिर ऐसी कौन सी वजह है की सुपेबेड़ा के ग्रामीणों को अब तक तेल नदी से साफ पानी नहीं मिल पा रहा है। जब विपक्ष में कांग्रेस की सरकार थी तब उनके नेताओं ने विपक्ष की भूमिका तो पूरी निष्ठा से निभाई थी और सुपेबेड़ा के ग्रामीणों को साफ पानी देने का वादा किया था। लेकिन आज जब कांग्रेस की सरकार सत्ता में है तो सबसे बड़ी  मूलभूत व पहली आवश्यकता पानी है और पानी के लिए सड़क पर उतरना पड़ रहा है।

सुपेबेड़ा वालों के आज पानी के मांग पूरी ना होने के चलते सुपेबेड़ा व आस  पास के ग्रामीणों ने राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा गया।

Related Articles

2 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button