छत्तीसगढ़

Chhattisgarh में ब्लैक फंगस से पहली मौत, 6 दिनों से जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहा था युवक, स्वास्थ्य विभाग की बढ़ी चिंता

दुर्ग। (Chhattisgarh) छत्तीसगढ़ में ब्लैक फंगस से पहली मौत भिलाई  में हुआ है। (35) वर्षीय सेक्टर 1 निवासी श्रीनिवास का इलाज भिलाई के सेक्टर 9 में चल रहा था। इससे पहले वो कोरोना संक्रमित था। रिकवर होने के बाद मृतक में ब्लैक फंगस के लक्षण नजर आने लगे। बताया जा रहा है कि युवक शुगर समेत अन्य बीमारियों से पीड़ित था।  दुर्ग CMHO ने सभी निजी अस्पतालों को अलर्ट किया है। इधर मौत की खबर ने स्वास्थ्य महकमे की चिंता बढ़ा दी है। ।

(Chhattisgarh) ब्लैक फंगस बीमारी को राज्य सरकार ने गंभीरता से लिया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सभी जिलों में फंगस के उपचार के लिए सभी जरूरी दवाओं की उपलब्धता के निर्देश स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारियों को दिए हैं।

भिलाई के सेक्टर-1 सी मार्केट में रहने वाले वी श्रीनिवास राव (35 वर्ष) को ब्लैक फंगस की शिकायत होने के बाद रायपुर के एक निजी अस्पताल में दाखिल किया गया। शुरू में आंखों में दर्द था। इसके बाद उनको दिखना बंद हो गया। वहां करीब उनका चार दिनों तक इलाज किया गया। इसके बाद वहां से BSP के सेक्टर-9 अस्पताल में रेफर किया गया। यहां करीब 6 दिनों तक डाक्टरों ने तमाम कोशिश की, बावजूद उनकी तबीयत में सुधार नहीं हो हुआ। आखिर में उनकी 11 मई को मौत हो गई।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button