देश - विदेशब्रेकिंग न्यूज़

Farmer Protest: दहल उठा सिंघु बॉर्डर, संत ने खुद को मारी गोली, सुसाइड नोट में किया इन बातों का जिक्र

नई दिल्ली। (Farmer Protest) कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग पर अड़े किसान 21 दिनों से दिल्ली की सीमाओं पर धरने पर बैठे हैं. सिंघु बॉर्डर पर किसानों के धरने में शामिल संत बाबा राम सिंह ने खुद को गोली मार ली है. उनकी मौत हो गई है. सिंघु बार्डर पर किसानों के धरने में संत बाबा राम सिंह शामिल थे.  बाबा राम सिंह करनाल के रहने वाले थे. (Farmer Protest) उनका एक सुसाइड नोट भी सामने आया है. उन्होंने किसान आंदोलन का जिक्र करते हुए उनके हक के लिए आवाज बुलंद की है. (Farmer Protest) संत बाबा राम सिंह किसान थे और हरियाणा एसजीपीसी के नेता थे.

West Bengal: ममता को तगड़ा झटका, शुभेंदु ने दिया इस्तीफा, BJP में स्वागत

जुल्म सहना और जुल्म करना भी पाप

संत बाबा राम सिंह ने सुसाइड नोट में लिखा कि किसानों का दुख देखा. वो अपना हक लेने के लिए सड़कों पर हैं. बहुत दिल दुखा है. सरकार न्याय नहीं दे रही. जुल्म है. जुल्म करना पाप है,जुल्म सहना भी पाप है. राम सिंह आगे लिखते हैं कि किसी ने किसानों के हक में और जुल्म के खिलाफ कुछ नहीं किया. कइयों ने सम्मान वापस किए. यह जुल्म के खिलाफ आवाज है और कीर्ति-किसानों के हक में आवाज है. वाहेगुरु जी का खालसा, वाहेगुरु जी की फतेह.

Related Articles

19 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button