जांजगीर-चांपा

Janjgir champa: दबंगों की दबंगई, गौठान की जमीन पर कर रहे खेती ग्रामीणों ने प्रशासन से की ये मांग

हेमंत पटेल@जांजगीर-चांपा। (Janjgir champa) नरवा,गरुवा,घुरवा,बाड़ी छत्तीसगढ का तीन चिन्हारी प्रोजेक्ट तुलसी गांव में दबंगो के कारण मुर्त रुप नहीं ले पा रहा है।

तुलसी गांव में दबंगों ने गौठान के लिए सुरक्षित स्थान को ही कब्जा कर लिया है।

उस जमीन में गन्ना के साथ धान की खेती कर दिए है।

(Janjgir champa) मामले की शिकायत सरपंच ने एसडीएम से की।

एसडीएम ने तहसीलदार के माध्यम से गौठान की जमीन का सीमांकन करा कर लाल झंडा लगवाया।

लेकिन गांव के दबंगों ने जिला प्रशासन के द्वारा लगाए गए लाल झंडे को उखाड कर शासकीय गौठान की जमीन में कब्जा कर लिया है।

जिला प्रशासन की कारवाई और शासन की जमीन में दबंगई के साथ खेती करने वालों से गांव के सरपंच भी भयभीत है।

(Janjgir champa) प्रशासन से गौठान की भुमि मुक्त कराने की मांग कर रहे है।

नवागढ ब्लाक के तुलसी गांव में शासकीय जमीन पर बेजा कब्जा का  सिलसिला रुकने का नाम नही ले रहा है।

गांव के दबंगों ने शासकीय खाली जमीन के साथ-साथ गौठान के लिए सुरक्षित रखे 4 एकड जमीन को भी कब्जा कर लिया है।

उसमें गन्ने के साथ- साथ धान की खेती कर रहे हैं।

इस मामले में गांव के जनप्रतिनिधियों ने एसडीएम से शिकायत की।

गौठान की भुमि पर कब्जा होने के कारण गांव में गौठान निर्माण नहीं होने से मवेशियों को घर में ही बांधने की मजबूरी बताया है।

प्रशासन से गौठान को मुक्त कराने की मांग

उन्होने जिला प्रशासन से गौठान की भुमि को मुक्त कराने की मांग की है।

सरपंच के मुताबिक शिकायत के बाद पटवारी ने गौठान की भुमि चिन्हांकित कर दिया है।

उस जमीन में लाल झंडा लगा कर बेजा कब्जा मुक्त की लेकिन पटवारी के जाते ही गांव के दंबगों ने उस जमीन में कब्जा कर लिया।

गन्ना की फसल लगा रहे है।

19 लाख की हो चुकी है स्वीकृति

सरपंच ने बताया कि गौठान निर्माण के लिए 19 लाख की राशि स्वीकृत भी हो गई है

लेकिन गौठान की जमीन में कब्जा होने की वजह से राशि का उपयोग नही हो पा रहा है।

एसडीएम ने गंभीरता से ली बात

इस मामले में जांजगीर एसडीएम ने तुलसी गांव में गौठान की जमीन में कब्जा की बात को गंभीरता से ली।

 Murder: जमीन के लिए बहू, सास, और भाई ने की हत्या, गला दबाकर उतारा मौत के घाट, गिरफ्तार

उस मामले की जांच के लिए नवागढ तहसीलदार को निर्देशित किया।

शासकीय जमीन में गन्ना या धान की फसल लगाने को गलत बताते हुए

उस जमीन को मुक्त कराने और गौठान बनाने की बात कही।

रोजगार मुहैय्या कराने के लिए गौठान बनाने की योजना

राज्य शासन ने गौ सेवा के साथ लोगों को रोजगार मुहैय्या कराने के लिए प्रदेश भर में गौठान बनाने की योजना बनाई है।

किसानों के फसल को सुरक्षित रखने के लिए गौठान के निर्माण की योजना बनाई।

लेकिन नवागढ ब्लाक के अधिकारी शासन की मंशा को अमली जामा पहनाने में नजर आ रहे हैं।

गांव के जनप्रतिनिधि शासकीय भुमि का कब्जा करने वाले दबंगो से डरे हुए है।

जिला प्रशासन द्वारा दोषियों पर कारवाई करने की उम्मीद में बैठे है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button