Uncategorized

Disorder: जब अस्पताल खुद हो जाए बीमार…तो आखिर कौन करेगा मरीजों का इलाज….पढ़िए गौरेला पेंड्रा मरवाही जिले के इस उपस्वास्थ्य केंद्र का हाल

बिपत सारथी@गौरेला-पेंड्रा-मरवाही। (Disorder) अस्पताल बनाये जाते हैं लोगों की बिगड़ी सेहत के सुधार के लिये पर जब सरकारी अस्पताल खुद बीमार नजर आए तो इनका इलाज कौन और कैसे करेगा। गौरेला पेंड्रा मरवाही जिला के चुकतीपानी उपस्वास्थ्य केन्द्र के भीतर गंदगी गोबर और जर्जर हालत को देखकर जरा सा भी इसके अस्पताल होने का अहसास नहीं होता। (Disorder) यहां पदस्थ चिकित्सकों और अन्य स्टॉफ का कहीं कोई पता नहीं पर सरकारी योजनाओं का प्रचार जरूर दीवारों पर लिखा दिखाई दे रहा है।

(Disorder) चुकतीपानी गांव अमरकंटक की तराई पर स्थित बैगा बाहुल्य गांव है और अस्पताल के बंद होने के कारण लोगों को पच्चीस किलोमीटर दूर गौरेला जाना पड़ता है। लोगों ने गौरेला बीएमओ को कई बार इस अस्पताल को शुरू करने की मांग की पर नजर अंदाज किया जाता रहा।

अब सीएमएचओ ने चुकतीपानी सहित अन्य बंद पड़े उपस्वास्थ्य केंद्रो को शुरू करने के लिये शासन से बजट और सेटअप की मांग की है। वहीं भाजपा नेता सरकार पर लोगों के स्वास्थ्य के नाम पर बंदरबांट और घोटाले का आरोप लगा रहे हैं।

Related Articles

2 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button