सरगुजा-अंबिकापुर

Ambikapur:पंचायत सचिवों की मांग, नहीं तो संघ ने आंदोलन की चेतावनी, पढ़िए क्या है पूरा माजरा

शिव शंकर साहनी@अंबिकापुर। (Ambikapur) प्रदेश की सरकार शिक्षाकर्मियों के संविलियन को लेकर शिक्षकों के  पक्ष में नजर आई।

लेकिन 10 हजार से अधिक पंचायत सचिवों के नियमितिकरण को लेकर सरकार गंभीरता नही दिखा रही हैं।

वही आज सचिव संघ के प्रदेश महामंत्री औऱ सचिव संघ के जिला अध्यक्ष सहित सचिव संघ के सभी पदाधिकारी

(Ambikapur) नियमितिकरण को लेकर अंबिकापुर जनपद पंचायत में मौजुद रहें।

इधर सचिव संघ के अध्यक्ष ने बताया कि पंचायतों में पदस्थ सचिव कोरोना वैश्विक महामारी में शासन के सभी निर्देशो

का पालन करते हुए पंचायतो की जनता को महामारी से बचाने के लिए हमेशा तत्पर रहे हैं।

शासन के विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं को ग्राम पंचायत के अंतिम व्यक्ति तक पहुचाने में अहम भुमिका निभा  रहे हैं।

लेकिन शासन द्वारा 500 रुपये मासिक मानदेय पर शिक्षाकर्मी एवं पंचायतकर्मी की भर्ती ग्राम पंचायत से आरंभ किया गया था।

(Ambikapur) लेकिन शिक्षाकर्मीयों को दो वर्ष पूर्ण होने पर संविलियन करते हुए समस्त सुविधाएं प्रदान कि जा रही हैं।

Congress ने कहा- अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के भूमिपूजन में भगवान राम के ननिहाल कौशल राज्य(छत्तीसगढ़) की उपेक्षा

इसके विपरीत ग्रामीण क्षेत्रो में शासन के समस्त योजनाओं का लाभ अंतिम व्यक्ति तक पहुचाने वाले पंचायत सचिवों का

नियमितिकरण आज तक नही हो पाया हैं।

जिसको लेकर सरकार से सचिव संघ ने पंचायत सचिवों का नियमितिकरण करने की मांग की हैं ।

साथ ही मांग पुरी नही होने पर सचिव संघ ने आंदोलन करने की चेतावनी दी हैं।

गौरतलब हैं कि प्रदेश में 60 से अधिक विधायको ने पंचायत संघ के सचिवो की मांगो पर सहमती भी दे दिया हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button