छत्तीसगढ़

Corona के बढ़ते संक्रमण के बीच सीएम का निर्देश, जिलों को पर्याप्त राशि होगी उपलब्ध, जिला अस्पतालों एवं सामुदायिक केन्द्रों में पीड़ितों के इलाज का प्रबंध, CM ने कहा-फंड की नहीं होगी कमी

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज यहां अपने निवास कार्यालय में राज्य में कोरोना (Corona) संक्रमण की स्थिति एवं प्रबंधन को लेकर आयोजित उच्च स्तरीय बैठक में कहा कि वर्तमान समय में कोरोना संक्रमण में तेजी आई है जो चिंताजनक है। उन्होंने कहा कि इसकी रोकथाम एवं इलाज के लिए सभी आवश्यक उपाय एवं प्रबंध किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना (Corona) संक्रमण की रोकथाम और मरीजों के इलाज के लिए फंड की कोई कमी नहीं होगी। इसके लिए उन्होंने जिलों को आवश्यकतानुसार राशि जारी करने के भी निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना (Corona) मरीजों के इलाज के लिए कोविड सेंटर, जिला अस्पतालों, सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में भी आवश्यक प्रबंध किए जाने की जरूरत है, ताकि रायपुर स्थित एम्स एवं मेडिकल काॅलेजों के अस्पतालों में मरीजों की अत्यधिक संख्या को रोका जा सके। उन्होंने कहा कि कोरोना मरीजों के लक्षण एवं उनकी स्वास्थ्यगत स्थिति को ध्यान में रखते हुए इलाज के लिए कोविड सेंटर एवं अस्पतालों में भर्ती किया जाना चाहिए। कोरोना संक्रमित परन्तु सामान्य स्थिति वाले मरीजों का इलाज कोविड सेंटर एवं जिला एवं ब्लाॅक स्तरीय अस्पतालों, होम आइसोलेशन में किए जाने से डेडिकेटेड अस्पतालों, मेडिकल काॅलेजों एवं एम्स में गंभीर स्थिति वाले मरीजों का सहजता से इलाज हो सकेगा। उन्होंने इसके लिए स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को मरीजों की स्थिति को ध्यान में रखते हुए उनकी केटेगरी का निर्धारण तथा इलाज के लिए रिफर करने हेतु सेंट्रल रेफरल सिस्टम तैयार करने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमित मरीजों के हॉस्पिटलाइजेशन के मामले में किसी भी तरीके के सिफारिश अथवा एप्रोच पर ध्यान देने के बजाय मरीज की स्वास्थ्यगत स्थिति का ध्यान रखा जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि इससे अस्पतालों में अनावश्यक रूप से बेड के एक्यूपाई होने की स्थिति रूकेगी और इसका लाभ गंभीर रूप से बीमार रोगियों को मिल सकेगा। मुख्यमंत्री ने जिला अस्पतालों, कोविड सेंटर एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में आॅक्सीजन बेड की संख्या में बढ़ोत्तरी के भी निर्देश दिए। उन्होंने वर्तमान समय में कोरोना संक्रमण की स्थिति के मद्देनजर अस्पतालों में मानव संसाधन की कमी को पूरा करने के लिए ग्रामीण इलाकों में पदस्थ चिकित्सकों की अस्थाई डयूटी लगाने के भी निर्देश दिए। अस्पतालों में नर्सिंग स्टाफ की पर्याप्त व्यवस्था के लिए उन्होंने नर्सिंग स्नातक एवं फाइनल ईयर की छात्राओं की सेवाएं भी अस्थाई तौर पर लेने की बात कही।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जिला चिकित्सालय, सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में बेड की उपलब्धता के बारे में लोगों को लगातार जानकारी दी जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि इससे कोरोना संक्रमित इलाज के लिए शहर जाने के बजाय स्थानीय स्तर पर इलाज के करा सकेंगे। मुख्यमंत्री ने निजी चिकित्सालयों में कोरोना मरीजों के इलाज के लिए दर निर्धारण के भी निर्देश स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को दिए।

बैठक में गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू, स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव, कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे, नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिव कुमार डहरिया, महिला एवं बाल विकास मंत्री अनिला भेंडिया, स्कूल शिक्षा मंत्री डाॅ. प्रेमसाय सिंह, उद्योग मंत्री कवासी लखमा, खाद्य मंत्री अमरजीत भगत, लोक स्वास्थ्य एवं यांत्रिकी मंत्री गुरु रुद्र कुमार एवं राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल, मुख्यमंत्री के सलाहकार राजेश तिवारी, मुख्य सचिव अमिताभ जैन, स्वास्थ्य विभाग की अपर मुख्य सचिव रेणुजी. पिल्ले, मुख्यमंत्री के सचिव सिद्धार्थ कोमल परदेशी,  संचालक स्वास्थ्य मिशन डॉ. प्रियंका शुक्ला सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Related Articles

5 Comments

  1. Nice blog right here! Additionally your web site loads up fast!
    What web host are you using? Can I am getting your associate
    hyperlink in your host? I desire my site loaded up as quickly as yours lol

  2. Amazing things here. I’m very glad to look yor post. Thanks a lot and
    I aam having a look aead to touch you. Will you pleas drop me
    a e-mail?
    site

  3. With havin so much content and articles do you ever run into any problems of plagorism or copyright infringement?

    My website has a lot of completely unique content I’ve either created myself or outsourced but it looks
    like a lot of it is popping it up all over the web without my permission. Do you know any techniques to help protect against
    content from being ripped off? I’d definitely appreciate it.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button