Uncategorized

Bilaspur: सड़क निर्माण एक बार और भूमिपूजन दो बार, पढ़िए क्या है पूरा माजरा

मनीष@बिलासपुर। (Bilaspur) छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में भूमिपूजन को लेकर कांग्रेस और भाजपा की खींचतान सामने आई है। नेता क्षेत्र में अपनी पकड़ मजबूत रखने एक ही सड़क निर्माण की दो बार भूमिपूजन करने से भी नही गुरेज रहे।

(Bilaspur) नगर निगम वार्ड क्रमांक 10 में सिरगिट्टी मुक्तिधाम से लेकर बजरंग चौक आवासपारा तक 11 सौ मीटर सड़क व नाली निर्माण पीडब्ल्यूडी द्वारा किया जाना है,

(Bilaspur) इस निर्माण हेतु 1 करोड़ 97 लाख रू नाबार्ड द्वारा पास किया गया भूमि पूजन में महापौर राम शरण यादव ,कांग्रेस उपाध्यक्ष अटल श्रीवास्तव,वार्ड पार्षद सहित मोहल्लेवासी उपस्थित थे।

भूमिपूजन कार्यक्रम में स्थानीय विधायक धरमलाल कौशिक को नही बुलाया गया जो भाजपा नेताओं को नागवार गुजरा।जिसके बाद उसी मार्ग को पुनः नौ दिन बाद स्थानीय विधायक धरमलाल कौशिक ने अपने पुरे कार्यकर्ताओं के साथ विधि विधान के साथ भूमिपूजन किया।

नेता प्रतिपक्ष कौशिक का कहना है कि ये भाजपा शासन काल में स्वीकृत हुआ है इसलिए हमने भूमि पूजन किया है।और रही बात दोबारा भूमि पूजन का तो कांग्रेस के लोग तलाशते रहते हैं की भाजपा शासन में काल क्या-क्या कार्य पास हुआ है ये सब पताकर के वहां नारियल फोडने पहुंच जाते है।

Chhattisgarh: 41 हजार से अधिक गोबर विक्रेताओं को 5.56 करोड़ रूपए का किया ऑनलाइन भुगतान, अब तक इतने करोड़ का हो चुका है भुगतान

बहरहाल अब देखना होगा कि इस मार्ग का भूमिपूजन में जिस तरह दोनों ही पार्टी के पदाधिकारियों ने जो रुचि दिखाई है वो जल्द सड़क बनवाने में भी रूचि दिखाएंगे या फिर बातों – बातों में सड़क राजनीति की भेंट चढ़ जायेगी और वार्डवासियों को कच्ची सड़क में ही चलते रहना होगा।

इस पूरे मामले में प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और उपाध्यक्ष अटल श्रीवास्तव ने बताया कि किस तरह से नगर निगम क्षेत्र के विस्तार की वजह से इस तरह की दिक्कतें सामने आ रही है।

कांग्रेस प्रदेश उपाध्यक्ष अटल श्रीवास्तव ने बताया कि, जल्द ही इस तरह की समस्याओं का हल निकाल लिया जाएगा । क्षेत्र के जनप्रतिनिधि का सम्मान हर राजनीतिक दल में होना चाहिए अग्रवाल इस बीच अटल श्रीवास्तव नहीं है स्पष्ट कर दिया कि आने वाले दिनों में सामंजस्य बनाया जाएगा, ताकि इस तरह की दिक्कतें सामने ना आए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button