बेमेतरा

Bemetara: खतरे में नौकरी, जीवनयापन मुश्किल…अब कहां जायेंगे ये अतिथि प्राध्यापक, पढ़िए

दुर्गा प्रसाद सेन@बेमेतरा। (Bemetara) प्रदेश के शासकीय महाविद्यालयो में बड़े पैमाने पर की जा रही सहायक प्राध्यापको की सीधी भर्ती के चलते कई सालों से काम कर रहे अतिथि प्राध्यापकों की नौकरी खतरे में नजर आ रही है। प्रदेश के शासकीय महाविद्यालयो में कई सालों से करीब 2500 अतिथि प्राध्यापक  कार्यरत है। अब पीएससी के जरिए राज्य सरकार सहायक प्राध्यापकों की नियमित भर्ती करने जा रही है। परीक्षा की तारीख घोषित हो चुकी हैं।

(Bemetara) प्रदेश के शासकीय महाविद्यालयो में प्राध्यापकों की कमी दूर करने के लिए अतिथि प्राध्यापकों की भर्ती की गई थीं। जिन्हें 3 साल के लिए नियुक्ति दी गई थी। इधर पीएससी के माध्यम से 1979 पदों पर नियमित भर्ती की प्रक्रिया शुरू की गई हैं।

Chhattisgarh: सियासत…और JCCJ की न्याय यात्रा, हाथ’ के लिए बन ना जाए मुसीबत! ..Video

(Bemetara) राज्य सरकार 595 प्रोफेसर व 1384 सहायक प्राध्यापकों के पद मिला कर कुल 1979 पदों पर भर्ती करना है।इसके चलते सालो से महाविद्यालय में सेवा दे रहे अतिथि प्राध्यापकों की नॉकरी खतरे में पड़ने की आशंका जतायी जा रही है।

स्नातक स्तर के अतिथि प्राध्यापकों की नियुक्ति प्रति वर्ष अगस्त से फरवरी और स्नाकोत्तर प्राध्यापकों  की नियुक्ति अप्रैल तक के लिए होती है। जिन्हें प्रति पीरियड 200 रुपये व प्रति दिन 4 पीरियड पढ़ाने की अनुमति होती है।अब ये कंहा जायेगे।उनके सामने भी घर परिवार चलाने की समस्या है।राज्य सरकार के गलत नीतियों के कारण लोग आर्थिक व मानसिक शोषण का शिकार हो रहे हैं।

Raipur: खुल गया ‘पोल’, पुलिस की गिरफ्त में आरोपी, लाखों रुपए की जमकर शॉपिग..

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button