बालोद

Balod: गांजा तस्करों का नया कारनामा, जिसे देख उड़े पुलिस के होश, देखिए क्या हुआ…Video

शिव जायसवाल@बालोद। (Balod) जिले में बॉर्डर क्षेत्रों में लगातार पुलिस द्वारा मुस्तैदी से पूछताछ एवं वाहनों की चेकिंग की जा रही है। इसी से बचने गांजे के सौदागरों ने लगभग 5 लाख का गांजा बालोद जिले के अंतिम छोर ग्राम ओनाकोना के जंगलों में छुपाकर रख दिया था। जिसे गुरूर पुलिस द्वारा अब जप्त कर लिया गया है। अंतरराज्यीय स्तर का यह मामला माना जा रहा है।(Balod)  क्योंकि उड़ीसा बॉर्डर और बस्तर के क्षेत्रों से होते हुए यह गांजा दुर्ग-भिलाई राजनांदगांव नागपुर जैसे क्षेत्रों में सप्लाई किया जाता है।

जंगलों में पतासाजी में जुटी पुलिस

(Balod) गुरुर थाना के थाना प्रभारी निरीक्षक अरुण नेताम ने बताया कि बालोद जिले के जंगलों में भी पुलिस द्वारा पतासाजी की जा रही है और ग्रामीणों को जागरूक किया जाता है कि आस-पास यदि कोई संदिग्ध चीजें देखें या कोई संदिग्ध परिस्थितियों देखने को मिले तो इसकी सूचना तुरंत पुलिस को दें ग्राम कोनाकोना के कुछ लोगों ने जंगल में एक बोरे को लावारिस अवस्था में पड़ा हुआ देखा। जिसके बाद से इसकी जानकारी गुरु थाने को दी गई पुलिस मौके पर पहुंची और बोरियों को खंगाला तो पता चला कि वहां पर गांजे का जखीरा रखा हुआ है। आरोपियों द्वारा इसे छुपा कर रखा गया था।

Raipur: राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री पुलिस स्मृति दिवस परेड में हुए शामिल, शहीद जवानों को दी श्रद्धांजलि

5 लाख के कीमत के गांजे

गुरु थाना प्रभारी ने बताया कि गांजा लगभग 47 किलो 900 ग्राम है। इसकी लागत लगभग 5 लाख रुपए है। गांजा मिलने के बाद से पुलिस द्वारा जंगल में गस्तीको बढ़ा दी गई है। वहीं मामले में अज्ञात आरोपी के खिलाफ नारकोटिक्स एक्ट 20(ख) के तहत मामला पंजीबद्ध किया गया है। आरोपियों की पतासाजी की जा रही है यह पुलिस की मुस्तैदी के कारण आरोपियों ने बचने के लिए जंगल में गांजा छुपाने का अंदाजा लगाया जा रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button