सरगुजा-अंबिकापुर

Ambikapur: बूढ़े मां-बाप के कहने पर रचाई दूसरी शादी, अब पत्नी और बच्चों पर धर्म परिवर्तन का बनाया दबाव, अब हिम्मत जुटाकर पहुंची थाने..सुनिए महिला की जुबानी

शिव शंकर साहनी@अम्बिकापुर। (Ambikapur) शहर की रहने वाली उस महिला के पास पति को खोने का गम था। बच्चे की परवरिश के साथ बूढ़े मां बाप के कहने पर दूसरी शादी रचाई। मगर उसे शादी के बाद पता चला कि जिस शख्स से उसने शादी रचाई है वो शादी के पहले ही धर्म परिवर्तन करके इस्लाम कबूल कर चुका है। (Ambikapur) ऐसे में उसके दूसरे पति ने महिला को प्रताड़ित करने का सिलसिला शुरू किया और इतना ही नही महिला और उसके बच्चों पर भी धर्म परिवर्तन करने का दबाव बनाने लगा।

Dhamtari: दो लड़कियों का होने वाला था बाल विवाह, सूचना पर पहुंची बाल संरक्षण टीम..फिर

(Ambikapur) ऐसे में महिला ने हिम्मत जुटाकर इसकी शिकायत थाने में की। जिसके बाद आरोपी युवक के खिलाफ भोपाल में मामला दर्ज कर लिया गया है।

दरअसल  छत्तीसगढ़ में अंबिकापुर के दत्ता कॉलोनी की रहने वाली मधुमिता विश्वास की शादी 2003 में हुई थी। मगर उनके पहले पति की मौत के बाद मधुमिता ने अपने एक बच्चे के कारण दूसरी शादी रचाने की सोची। शादी के वेबसाइट पर अपना प्रोफाइल डाल दिया। जिसके बाद भोपाल के अमित विश्वास नाम के शख्स ने पूरे हिन्दू रीति रिवाज और विधि विधान से साल 2012 में मधुमिता से शादी कर ली।

मधुमिता का कहना है कि जब दूसरे पति से उनकी एक बेटी हुई तब उसके पति ने शादी के पहले ही अपना धर्म बदल कर इस्लाम कबूल कर लेने की बात बताई। बेटी का नाम भी इस्लाम धर्म के अनुरूप रखने का दबाव बनाना शुरू कर दिया।

इसके बाद मधुमिता के साथ यातनाये शुरू हुई। उसके पति ने मधुमिता पर धर्म परिवर्तन का दबाव बनाया। इतना ही नहीं बच्चों को भी धर्म परिवर्तन के लिए प्रताड़ित करने लगा। इन सब के पीछे उसकी मंशा एक और शादी करने के थी।

मधुमिता का कहना है कि एक सर्टिफिकेट भी उन्हें मिला जिसमें यह पता चला कि अमित विश्वास का नाम अमीन हो चुका है और वह धर्म परिवर्तन कर चुका है। मधुमिता का आरोप है कि उसे मारने और पागल घोषित करने की भी कोशिशें की गई। ऐसे में मधुमिता ने बड़ी हिम्मत करते हुए इसकी शिकायत थाने में की।

भोपाल थाने में मधुमिता के आवेदन पर उसके पति अमित विश्वास के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। लव जिहाद का यह मामला सामने आने के बाद मधुमिता ने लव जिहाद कानून की पैरवी की है। यह कहा कि इस पूरे मामले में न सिर्फ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए।

Related Articles

91 Comments

  1. 466370 179736Hi my loved one! I wish to say that this post is remarkable, wonderful written and come with almost all important infos. I would like to see far more posts like this . 745347

  2. 459958 966019Hmm is anyone else having difficulties with the images on this weblog loading? Im trying to figure out if its a issue on my end or if it is the blog. Any responses would be greatly appreciated. 324050

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button