सरगुजा-अंबिकापुर

Ambikapur: समिति प्रबंधन की मनमानी, कलेक्टर की चेतावनी, पढ़िए क्या है पूरा माजरा

शिव शंकर साहनी@सरगुजा। (Ambikapur) जिले में कलेक्टर संजीव कुमार झा के चेतावनी के बावजूद समिति प्रबंधन नहीं सुधर रहे हैं। शासन द्वारा निर्धारित वजह से अधिक धान की खरीदी किसानों से समिति प्रबंधन कर रहा है। ऐसे में समिति प्रबंधन सरकार को चुना तो लगा ही रहे हैं। (Ambikapur) साथ ही किसानों को भी नुकसान उठाना पड़ रहा है।

शासन के नियमों को ताक पर रखकर कर रहा धान खरीदी

(Ambikapur) सरगुजा जिले के बटवाही धान समिति केंद्र में लूट मची हुई है। समिति प्रबंधन शासन द्वारा निर्धारित सभी नियमों को ताक पर रखकर धान की खरीदी कर रहा है। समिति के इस कारनामे से सरकार सहित किसानों को भी नुकसान उठाना पड़ रहा है। दरअसल समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के लिए सरकार ने किसानों से प्रति बारादान 40 किलो 700 ग्राम का प्रावधान रखा है। इसके बावजूद बटवाही धान समिति प्रबंधन किसानों से प्रति बारादान 41 किलो 400 सौ ग्राम धान ले रहा है.. ऐसे में किसानों को लगभग 1 किलो अतिरिक्त धान का नुकसान हो रहा हैं।

41 किलो से ज्यादा

इस संबंध में समिति के कर्मचारियों ने भी बताया कि 41 किलो से ज्यादा लिया जा रहा है। वही इसे मामले को समिति प्रबंधक ने कहा कि ऐसी कोई बात नही है और ना कि ज्यादा लिया जा रहा है। खैर हमने समिति प्रबंधक सामने तोल किया गया। फिर झूठ का पुलिंदा बांधने में समिति प्रबंधक ने कोई कमी नही की।

Bhilai: सुबह-सुबह पति की खुली नींद…पत्नी थी नदारद… फिर जो देखा…उसे देख उड़े पति के होश

40 किलो 700 ग्राम लेने का प्रावधान

लिहाजा किसानों से धान की लूट की जा रही है। जहाँ सरकार किसानों से 40 किलो 700 ग्राम लेने का प्रावधान रखा है। तो वही किसानों से 41 किलो 300 सौ या 400 सौ ग्राम लिया जा रहा है।

Congress महासचिव प्रियंका गांधी समेत कई नेता पुलिस हिरासत में, मार्च की नहीं मिली इजाजत, सिर्फ तीन नेताओं को राष्ट्रपति से मिलने की इजाजत

कलेक्टर ने दी है सख्त चेतावनी

शासन को चुना लगाते हुए समिति प्रबंधन बेख़ौफ होकर अपनी जेब गर्म करने में लगा हुआ है। जबकि जिले के सभी उपार्जन केंद्र के प्रबंधकों को कलेक्टर संजीव कुमार झा ने सख्त चेतावनी दी है कि यदि निर्धारित वजन से अधिक धान की खरीदी समिति प्रबंधन करते पकड़ा गया। तो उनसे वसूली की कार्यवाही की जाएगी। लेकिन कलेक्टर की चेतावनी को ताक पर रखकर बटवाही समिति प्रबंधन किसानों से प्रति बारादान अधिक धान खरीद रहा है। जिससे कि किसानों को नुकसान उठाना पड़ रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button