सरगुजा-अंबिकापुर

Ambikapur: राजनीतिक लाभ के लिए शिक्षकों की भर्ती का विज्ञापन?. प्रदर्शन करते हुए ABVP ने कही ये बात

शिव शंकर साहनी@अंबिकापुर। (Ambikapur) अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद अंबिकापुर के कार्यकर्ताओं द्वारा आज स्थानीय गांधी चौक में 14580 शिक्षक पद स्थापना को लेकर घंटी बजा कर प्रदर्शन किया गया। सरकार को नींद से जगाने की कोशिश की गई।

अभाविप के कार्यकर्ताओं द्वारा बताया गया की  9 मार्च 2019 को लोकसभा चुनाव के आचार संहिता लगने के 1 दिन पूर्व यह शिक्षक भर्ती का विज्ञापन आया। क्या इसे केवल भूपेश बघेल के द्वारा लोकसभा चुनाव में राजनीतिक लाभ लेने के लिए ही घोषणा किया गया था।

(Ambikapur)संविदा शिक्षकों की भर्ती के लिए वित्तीय संकट नहीं है। क्या आप जो चयनित शिक्षक अभ्यर्थी हैं। उसी में से अंग्रेजी माध्यम के शिक्षकों को चयन कर अंग्रेजी मीडियम के स्कूलों में क्यों पदस्थापना नहीं दे सकते हैं।

 

Dhamtari: क्या हादसे के बाद जागेगा प्रशासन?…हवा में उड़ रहे फ्लेक्स ने उड़ाए लोगों के होश, पढ़िए

(Ambikapur)30 सितंबर से पहले व्याख्याता पद की भर्ती यदि नहीं हुई तो उनके साथ अन्याय होगा। व्यापम के द्वारा यह परीक्षा निरस्त मानी जाएगी। इसका जिम्मेदार कौन होगा।

सरकार शिक्षक भर्ती की प्रक्रिया पूर्ण करें और जब भी विद्यालय खुले उसी दिन ही शिक्षकों को नियुक्ति दें। लेकिन अपनी मंशा तो साफ करें और शिक्षक भर्ती के विषय में मुख्यमंत्री अपनी चुप्पी तोड़े।

आज  सरकार  को नींद से जगाने के बावजूद भी अगर  व शिक्षक पद स्थापना नहीं करती है। तो विद्यार्थी परिषद  उग्र आंदोलन हेतु बाध्य होगी।

कार्यक्रम में मुख्य रूप सेनगर मंत्री अतीष पाण्डेय,प्रदेश कार्यकारणी सदस्य  अश्विनी चौबे, निखिल मरावी, वर्षा गुप्ता, अविनाश मण्डल,  पिंटू पाण्डेय ,दिवेश नाग ,ऋषभ, उमेश मानिकपुरी, अभिषेक गुप्ता ,महेश सिंह, सत्यम सिंह राजपूत ,आनंद यादव, आकाश कश्यप ,रोहित राजवाड़े व अन्य कार्यकर्ता उपस्थित रहे

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button