Dhamtari:  विशाल पेड़ काटकर रास्ते को रोका….नक्सली या शरारती तत्व?..पुलिस जांच में जुटी

0
11
Dhamtari
Dhamtari

संदेश गुप्ता@धमतरी. जिले के घोर नक्सल प्रभावित (Dhamtari) इलाकों में शामिल कारीपानी गांव के पास विशाल पेड़ काटकर मार्ग अवरुद्ध कर दिया गया.

जिसके बाद पूरे इलाके में दहशत फैलने के साथ (Dhamtari) ही वाहनों की आवाजाही पर विराम लग गया.

सूचना मिलते ही बोराई पुलिस मौके पर पहुंची और रास्ते से पेड़ हटाकर यातायात व्यवस्था बहाल किया गया.

आसपास कोई भी नक्सली पर्चा (Dhamtari) बरामद नहीं हुआ है.

ऐसे में पुलिस इसे शरारती तत्वों की करतूत मान रही है.

Fear of corona: बिना मास्क लगाए कर रहे थे व्यवसाय, पहुंची प्रशासन की टीम, फिर चेहरे की उड़ी हवाइयां

आपको बता दें कि जिले का नगरी सिहावा इलाके को नक्सल प्रभावित माना गया है.

बस्तर और उड़ीसा से लगे अधिकांश गांव घोर नक्सल प्रभावित इलाकों में शामिल हैं.

Scorching heat: जला रही है गर्मी..चढ़ रहा है पारा…अब कहां से जाए इंसान!..देखे

जहां नक्सलियों की चहलकदमी और आवाजाही अक्सर सुनाई देती रहती हैं.

नक्सली अपनी मौजूदगी का एहसास कराने समय-समय पर पेड़ काटकर मार्ग अवरुद्ध करने और बैनर पोस्टर लगाने जैसी करतूत को अंजाम देते रहे हैं.

Grasshopper attack किसानों के लिए दोहरी चिंता….राज्य में जल्द हरी आफत की दस्तक…प्रशासन अलर्ट

मंगलवार की रात भी सिहावा बोराई मुख्यमार्ग में कारीपानी के पास विशालकाय सरई पेड़ काटकर मार्ग अवरुद्ध कर दिया गया था.

जिससे इस मार्ग में आवाजाही रुकने के साथ ही पूरे इलाके में दहशत फैल गई.

Corona को मात देकर जिले के 4 मरीज हुए डिस्चार्ज,   15 मरीजों का इलाज जारी

घटना की सूचना मिलते ही बोराई टीआई नोहर सिंह मंडावी के नेतृत्व में पुलिस के जवान आज मौके पर पहुंचे.

आसपास इलाके में सर्चिंग करने के बाद दोपहर करीब 12 बजे रास्ते से पेड़ हटाकर यातायात व्यवस्था बहाल किया गया.

मौके से किसी तरह का नक्सली बैनर या पर्चा बरामद नहीं हुआ है.

लेकिन संवेदनशील इलाके को देखते हुए इसे नक्सलियों की करतूत से भी इनकार नहीं किया जा सकता.

इस संबंध में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनीषा ठाकुर रावटे का कहना है कि कारीपानी के पास पेड़ काटने की सूचना मिली थी.

पुलिस ने मौके पर पहुंचकर पेड़ हटवा लिया था. एएसपी का कहना है कि आमतौर पर नक्सली पेड़ काटने के साथ ही आसपास बैनर पर्चे भी छोड़कर जाते हैं

लेकिन मौके पर किसी भी प्रकार का बैनर पर्चा नहीं मिला है.

ये किसी शरारती तत्व की करतूत है.आसपास के ग्रामीणों से पूछताछ कर मामले की जांच की जा रही है.