Home लेख-आलेख बादाम की अच्छाई के साथ मनाएं होली!

बादाम की अच्छाई के साथ मनाएं होली!

रुचि गुप्ता@इंदौर। मार्च 2020 होली को उम्मीदों बेशुमार रंगों का त्यौहार और अच्छी फसल के प्रतीक के रूप में मनाया जाता है। यह भारत का सबसे ज्यादा मनाया जाने वाला त्यौ्हार है। होली का मतलब होता है। परिवार से मिलना-जुलना और साथ वक्त बिताना। इसका मतलब है कि खूब सारे अनहेल्दी स्नैंक्स और मिठाइयां खाना […]

रुचि गुप्ता@इंदौर। मार्च 2020 होली को उम्मीदों बेशुमार रंगों का त्यौहार और अच्छी फसल के प्रतीक के रूप में मनाया जाता है। यह भारत का सबसे ज्यादा मनाया जाने वाला त्यौ्हार है। होली का मतलब होता है। परिवार से मिलना-जुलना और साथ वक्त बिताना। इसका मतलब है कि खूब सारे अनहेल्दी स्नैंक्स और मिठाइयां खाना जिसकी वजह से आगे आपकी सेहत पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है। त्यौहार के इस मौसम में बिना सोचे समझे खाना और खाने पीने पर नज़र नहीं रख पाना। साथ ही मीठे और मनपसंद खाने पर टूट पड़ना बहुत ही आम बात है।। इसलिए आइये हम बिना साबुत अनाज या कैलोरी से भरपूर खाने की जगह बादाम को अपनायें और एक सेहतमंद होली मनाने के बारे में सोचें।

चाहे दोस्तों या परिवारवालों के साथ तोहफों के रूप में हो या त्यौहार की रेसिपी के तौर पर या इस उत्सव में स्नैक के तौर पर परोसें. बादाम पोषण से भरपूर और सेहतमंद होते हैं और होली के त्यौहार में ये आसानी से घुल मिल सकते हैं।

बॉलीवुड की मशहूर अभिनेत्री सोहा अली खान कहती हैं होली अपने परिवार और दोस्तों के साथ वक्त बिताने का सबसे अच्छा मौका होता है। यह वह समय होता है जब हम से ज्यादातर लोग मीठे से तर होते हैं। जो लोग सेहत को लेकर बेहद जागरूक होते हैं। उन्हें मैं खुद मिठाई की जगह बादाम देना पसंद करूंगी। क्यों कि यह एक हेल्दी विकल्प है। सालों की रिसर्च में रोजाना बादाम खाने के फायदे साबित हो चुके हैं। जिससे टाइप 2 डायबिटीज दिल की सेहत और वजन को नियंत्रित रखने पर प्रभाव का पता चलता है।

फिटनेस के दीवाने और सुपरमॉडल मिलिंद सोमन के अनुसार कई सारे लोगों के लिये होली एक पावर पैक त्यौहार होता है. जहां डांस होता है। परिवारवालों से मिलना-जुलना होता है। और हां रंगों और पिचकारी के साथ खेलना भी होता है। होली के दौरान हमें अपनी ऊर्जा को बनाये रखने की जरूरत होती है। ऐसा करने के लिये अपने साथ हमेशा बादाम रखें। बादाम से ऊर्जा मिलती है और जब भी भूख महसूस हो आप आसानी से उसे स्नैक के तौर पर खा सकते हैं। इससे निश्चित रूप से आपको ऊर्जा मिलेगी। वह भी त्यौहार का पूरा मजा लेते हुए सही तरीके से।

भारत का प्रमुख त्यौहार होने के कारण होली एक ऐसा समय होता है। जब लोग संगीत और कई सारी खाने.पीने की पारंपरिक चीजों में डूबे होते हैं। त्यौहार की धूम और कई सारी मेल मुलाकातों के साथ यह बेहद जरूरी है कि आप अपनी सेहत और खाने-पीने का ध्यान रखें।

रीजनल हेड.डाइटेटिक्स मैक्सौ हेल्थंकेयर. दिल्ली रितिका समद्दर कहती हैं होली के दौरान हममें से ज्यादातर लोग तेल-घी वाली मिठाइयां और स्नैक्स जैसे गुझिया कचौरी या चकली खाने में मशगूल रहते हैं। खाने.पीने की यह पारंपरिक चीजें काफी स्वादिष्ट होती हैं। जोकि हमारी कैलोरी में और इजाफा करने का काम करती हैं। बेवजह वजन बढ़ जाता है। इससे बचने का सबसे आसान तरीका है कि सेहतमंद स्नै्क्स जैसे बादाम चुनें। जब भी मेहमान आयें तो होली का सेहतमंद मजा देने के लिये उन्हें सिके हुए या हल्के सॉल्टेड बादाम परोसें।

माधुरी रुइया पाइलेट्स एक्सपर्ट तथा डाइट एंड न्यूलट्रिशन कंसल्टेंट के अनुसार मैं त्यौहारों और खास मौकों पर बादाम जैसे नट्स गिफ्ट के तौर पर देने की सलाह देती हूं। इसका दोगुना फायदा है। एक तो ये स्वादिष्ट स्नैक होते हैं और दूसरा इससे यह पता चलेगा कि तोहफा देने वाले को तोहफा लेने वाले की सेहत की परवाह है। क्योंकि बादाम में कई सारे पोषक तत्व होते हैं। जोकि सेहतमंद जिंदगी के लिये जरूरी होते हैं।
अपनी बात रखते हुए शीला कृष्णस्वामी न्यूट्रिशन तथा वेलनेस कंसल्टेंट कहती हैं घंटों होली खेलने के बाद लोगों का अपनी भूख का इलाज करना स्वाभाविक है। ऐसे में कई लोग भूख मिटाने के लिये गैर साबुत स्नैक खाने की तरफ खिंचे चले जाते हैं। इसे दूर करने के लिये मैं सलाह दूंगी कि ड्राइफ्रूट्स या बादाम जैसे नट्स अपने साथ रखें। ज्यादा प्रोसेस की हुई चीजों की जगह पर बादाम का इस्तेमाल करें। इससे ना केवल पूरे त्यौहार के दौरान आपकी भूख शांत रहेगी। बल्कि आपकी पूरी सेहत भी बेहतर होगी।

तो इस होली खुशियों और अच्छी सेहत के लिये अपने करीबियों को बादाम का तोहफा दें। यहां आमंड एंड होली बैसिल ठंडाई रेसिपी दी गयी है जोकि आपके होली के त्यौहार को और भी सेहतमंद बना देगा।

“आमंड एंड होली बैसिल ठंडाई”

सामग्री मात्रा
3,4 लोगों के लिये (लगभग 200 एमएल हरेक के लिये)
भिगाये हुए बादाम छिलका उतारा हुआ 2 टेबलस्पून
भिगोये हुए खरबूजे के बीज 2 टेबलस्पून
भिगोये हुए खसखस के बीज 1 टेबलस्पून
कतरे हुए बादाम 1/2 कप
शक्कर 1/4 कप
केसर के रेशे 1 चुटकी
ताजी तुलसी की पत्तियां 4
दूध 2 कप
हरी इलायची का पावडर 1/2 टेबलस्पून
काली मिर्च 1/2 टीस्पूपन
भिगोयी हुई सौंफ 1/4 कप

विधि

1.सौंफ खसखस के बीजों और बादाम का एक गाढ़ा पेस्टक तैयार कर लें।

2.एक मोटी तले वाले पैन में दूध और केसर को उबालें। इस दूध में शक्कर को घुलने दें।

3.तुलसी की पत्तियों तथा काली मिर्च के दाने का पेस्ट बनायें और उसे दूध में मिला दें।

4.दूध में इलायची पावडर के साथ बादामए खसखस के बीजों और सौंफ का पेस्टे और बादाम की कतरन मिलायें और 2.3 मिनट के लिये इसे पकायें।

5.इस ठंडाई को रेफ्रिजरेटर में ठंडा होने के लिये रख दें।

पोषण के बारे में जानकारी

कैलोरी 1772.20 प्रोटीन ग्राम में 58.17

कुल फैट ग्राम में 112.41 सैचुरेटेड ग्राम में 11.98

मोनोसैचुरेटेड ग्राम में 58.33 पॉलीसैचुरेटेड ग्राम में 31.19

कार्बोहाइड्रेट्स ग्राम में 153.66 फाइबर ग्राम में 25.51

कैल्शियम ग्राम में 2.14 मैग्नीशियम ग्राम में 308.66

पोटेशियम ग्राम में 3.21 विटामिन ई 0.042