Home क्राईम Murder: दोस्त बने हत्यारे, खर्चे को लेकर हुआ था विवाद, फिर गुस्से...

Murder: दोस्त बने हत्यारे, खर्चे को लेकर हुआ था विवाद, फिर गुस्से में आकर 1 दोस्त को सुला दी मौत की नींद, पढ़े

शिव जायसवाल@बालोद।   (Murder) बीते दिनों डॉडी विकासखंड के डौंडी थाना क्षेत्र अंतर्गत भिलाई इस्पात संयंत्र के हवाई पट्टी में कुएं में एक अज्ञात व्यक्ति की लाश मिली थी। जिसकी शिनाख्त ग्राम चिकली निवासी हर्ष कुमार जुर्री उम्र 26 वर्ष के नाम से पहचान की गई। जिसके बाद पुलिस द्वारा मर्ग कायम कर मामले को जांच में […]

Murder
Murder

शिव जायसवाल@बालोद।   (Murder) बीते दिनों डॉडी विकासखंड के डौंडी थाना क्षेत्र अंतर्गत भिलाई इस्पात संयंत्र के हवाई पट्टी में कुएं में एक अज्ञात व्यक्ति की लाश मिली थी।

जिसकी शिनाख्त ग्राम चिकली निवासी हर्ष कुमार जुर्री उम्र 26 वर्ष के नाम से पहचान की गई।

जिसके बाद पुलिस द्वारा मर्ग कायम कर मामले को जांच में लिया गया।

शुरुआत में इसे आत्महत्या के मामले से जोड़कर देखा जा रहा था।

परंतु कुछ साक्ष्य के आधार पर पुलिस हत्या की जांच मेें जुट गई।

जांच में मृतक के दो दोस्त ही उसके कातिल निकले।

विवाद के बीच में एक दोस्त ने गमछे से गला दबाकर हत्या कर दी।

आरोपियों की पतासाजी के लिए विशेष टीम गठित

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक डीआर पोते ने बताया कि मामले के लिए विशेष टीम का गठन किया गया था।

मामले की गंभीरता को देखते हुए बारीकी से जांच प्रारंभ किया गया।

जिसके बाद मृतक युवक के आने जाने की जानकारी एकत्र की गई।

दिनभर की गतिविधियों की बारीकी से जांच की गई ।

जिसके बाद दोस्त भानु राम गोटा पिता आत्माराम गोटा उम्र 42 वर्ष तथा नागेश्वर गोटा पिता मुकुंद लाल गौड़ उम्र 24 वर्ष निवासी चिकली से बारीकी से पूछताछ की गई।

कड़ाई से पूछताछ करने पर आरोपियों ने जुर्म कबूल(Murder)  कर लिया।

BJP का एक दिवसीय सांकेतिक विरोध, सरकार की वादा खिलाफी के विरुद्ध में लगाया नारा
खर्च को लेकर हुआ विवाद

आरोपियों द्वारा बताया गया कि मृतक हर्ष कुमार के साथ भी दोनों दल्ली राजहरा शराब दुकान गए थे।

जहां शराब खरीदी और नरूला के आसपास शराब का सेवन किया। उसके बाद तीनों डॉन डीजे है।

मृतक हर्ष कुमार के लिए टोपी भी खरीदी।

उसके बाद डौंडी देसी शराब भट्टी में जाकर फिर से शराब खरीदी।

इसके बाद हवाई पट्टी के पास बैठकर शराब का सेवन किया।

तीनों दोस्त मौज मस्ती कर रहे थे।

बातचीत के दौरान शराब पीने वह पैसे खर्च करने की बात को लेकर विपक्षी विवाद हो गया।

गुस्से में आकर नागेश्वर गुप्ता ने मृतक कुमार के गले को अपने दोनों हाथों से दबाने लगा।

हर्ष कुमार को छटपटाते देखकर आरोपियों ने हर्ष कुमार के गमछे से उसका गला घोटकर हत्या (Murder) कर दी।

जिससे उसकी मृत्यु हो गई। डर के कारण दोनों आरोपी फिर अपने घर चले गए।

हत्या की गुत्थी सुलझाने में विशेष टीम के निरीक्षक गौरव कुमार साहू प्रधान आरक्षक प्रेम सिंह राजपूत आरक्षण संदीप यादव आरक्षक राजेश पांडे का सराहनीय योगदान रहा।

गुत्थी को सुलझाने में विशेष टीम के निरीक्षक गौरव कुमार साहू प्रधान आरक्षक प्रेम सिंह राजपूत आरक्षण संदीप यादव आरक्षक राजेश पांडे का सराहनीय योगदान रहा।